नियाभर में इंटरनेट का इस्तेमाल करने के लिए कुछ समय पहले तक जिस ब्राउजर का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता था वह ब्राउजर Internet Explorer अगले साल बंद होने जा रहा है। Internet Explorer को तैयार करने वाली सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने 2022 में इसे बंद करने की घोषणा की है। मौजूदा समय में इंटरनेट के इस्तेमाल के लिए दुनियाभर में सबसे ज्यादा गूगल के ब्राउजर Google Chrome का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है और Internet Explorer मौजूदा समय में Google Chrome को टक्कर नहीं दे पा रहा था और लगातार मार्केट में उसका इस्तेमाल कम हो रहा था। यही वजह है कि Microsoft ने अब Internet Explorer को बंद करने का फैसला किया है।

Microsoft ने साल 1995 में Internet Explorer को लॉन्च किया था, दुनियाभर में अधिकतर कंप्यूटर के अंदर क्योंकि Microsoft की विंडो का इस्तेमाल होता है, ऐसे में अधिकतर कंप्यूटर के अंदर Internet Explorer पहले से इनस्टॉल हुआ मिलता था और कंप्यूटर के जरिए इंटरनेट इस्तेमाल करने के लिए यूजर इसी ब्राउजर का उपयोग करते थे। यही वजह है कि लॉन्च होने के बाद 10 साल से ज्यादा समय तक Internet Explorer दुनिया में नंबर वन इंटरनेट ब्राउजर बना रहा।

मौजूदा समय में कंप्यूटर से ज्यादा मोबाइल पर इंटरनेट का इस्तेमाल होता है और दुनियाभर में ज्यादातर मोबाइल यूजर Google Chrome का ही इस्तेमाल करते हैं। फिलहाल इंटरनेट ब्राउजिंग की मार्केट में Google Chrome की दुनियाभर में लगभग 65 प्रतिशत हिस्सेदारी है। Google Chrome के अलावा Apple के ब्राउजर Safari का भी अच्छा इस्तेमाल होता है और वैश्विक बाजार में इसकी हिस्सेदारी लगभग 18 प्रतिशत है।। माइक्रोसॉप्ट ने भी Google Chrome को टक्कर देने के लिए साल 2015 में Edge ब्राउजर को लॉन्च किया था लेकिन फिलहाल उसकी इंटरनेट ब्राउजिंग के बाजार में सिर्फ 3 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here