ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कालाबाजारी करने के मामले में गिरफ्तार किए गए नवनीत कालरा के मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट में कालरा के वकीलों ने फिल्म अभिनेता सलमान खान को भी घसीट लिया. इस बीच कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की 5 दिन की पुलिस कस्टडी के लिए लगाई गई अर्जी को खारिज कर दिया.

दरसअल, सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस ने कहा कि जो ऑक्सीजन कंसंट्रेटर नवनीत कालरा ने बेचे वो कोरोना मरीजों के लिए सही मात्रा में ऑक्सीजन फ्लो देने में सक्षम ही नहीं थे. इस पर नवनीत कालरा के वकील ने कहा कि ऐसे मॉडल के ऑक्सीजन कंसंट्रेटर कल ही सलमान खान ने ट्विट किया है.

वकील ने बताया कि उन्होंने यही ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदे हैं और कोरोना के मरीजों को दे रहे हैं. स्पाइस जेट ने करीब 500 सेम मॉडल के ऑक्सीजन कंसंट्रेटर हाल ही में खरीदे हैं, ऐसे में ये कैसे कहा जा सकता है कि ऑक्सीजन कंसंट्रेटर कोरोना मरीजों के लिए सक्षम नहीं थे.

सलमान खान ने फ्री में बांटेः सरकारी वकील

सरकारी वकील ने कहा कि नवनीत कालरा ने लोगों को भ्रमित करके ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बेचे कि एक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर से एक साथ दो लोगों को ऑक्सीजन सप्लाई दी जा सकती है. सलमान खान ने लोगों को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बेचे नहीं है बल्कि फ्री में बांटे हैं. ऐसे में चैरिटी और लालच में फर्क होता है. नवनीत कालरा ने ऊंचे दामों पर लोगों को बेचा है और इसकी कालाबाजारी की है, जबकि सलमान खान ने लोगों की मदद करने के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर फ्री में दिए हैं.

इस बीच दिल्ली पुलिस ने कहा कि नवनीत कालरा की 5 दिन की पुलिस कस्टडी की आगे और जरूरत है. हमें इस मामले में कुछ और नई चीजें हाथ लगी हैं. लिहाजा नवनीत कालरा की 5 दिन की कस्टडी और बढ़ाने की अर्जी हम लगा रहे हैं. कालरा की 3 दिन की पुलिस कस्टडी खत्म होने के बाद उसे गुरुवार को कोर्ट में पेश किया गया. ED की तरफ से भी आज नवनीत कालरा के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

23 बैंक में पैसों का ट्रांसजेंक्शनः दिल्ली पुलिस

दिल्ली पुलिस ने साकेत कोर्ट को बताया कि 23 बैंक के जरिये पैसों का ट्रांसजेंक्शन हुआ है और 516 लोगों को नवनीत कालरा ने ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बेचे हैं. इसमें बड़े स्तर पर पैसों का लेनदेन हुआ है, जिसकी जांच करनी जरूरी है. पुलिस ने कहा कि नवनीत कालरा की मैदानगढ़ी पुलिस ने गिरफ्तारी की थी और उस वक्त फोन जब्त किया जा चुका है, लेकिन उनको रिलीज कराने के लिए कोर्ट में हमने अर्जी लगाई है और फोन रिलीज के बाद हम इस मामले में फोन से जुड़े ट्रांनजेंक्शन की जांच पड़ताल करेंगे.

नवनीत कालरा के वकील ने कहा कि 6 लोगों की कंपनियों के साथ काम कर रहा था. ये मैं पहले ही स्वीकार कर चुका हूं कि मेरा फोन, डायरी, लैपटॉप, डायरी सब कुछ पुलिस के पास है. लिहाजा मेरी पुलिस कस्टडी बढ़ाए जाने की अब कोई जरूरत नहीं है. कोर्ट ने कहा कि इस मामले में नवनीत कालरा की जमानत अर्जी पर वह बाद में सुनवाई करेंगे.

न्यायिक हिरासत में भेजे गए कालरा

साकेत कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की नवनीत कालरा की 5 दिन की पुलिस कस्टडी के लिए लगाई गई अर्जी को खारिज कर दिया है. ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कालाबाजारी से जुड़े मामले में आरोपी कालरा को लेकर पुलिस ने अपनी अर्जी में कहा था कि पुलिस को इस मामले में कुछ नई चीजें मिली हैं लिहाजा कालरा से कस्टोडियल इंटेरोगेशन जरूरी है. लेकिन साकेत कोर्ट ने पुलिस की अर्जी को खारिज करते हुए नवनीत कालरा को फिलहाल न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. साकेत कोर्ट कल कालरा की जमानत अर्जी पर सुनवाई करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here