राजस्थान की जोधपुर सेंट्रल जेल में सजा काट रहे कोरोना संक्रमित आसाराम (Asaram) को बुधवार रात तबीयत बिगड़ने के बाद महात्मा गांधी अस्पताल (Mahatma Gandhi Hospital) शिफ्ट किया गया है. आसाराम का तीन दिन पहले कोरोना टेस्‍ट हुआ था और बुधवार शाम उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी. इसके बाद 80 साल के आसाराम ने बेचैनी की शिकायत की थी. यही नहीं, कोरोना वायरस के चलते ऑक्सीजन लेवल बहुत कम होने पर उनको अस्पताल के आईसीयू में भर्ती किया गया. जबकि आसाराम की तबीयत बिगड़ने की खबर सुनकर उनके कई समर्थक अस्‍पताल पहुंच गए. यही नहीं, हालत बिगड़ते देख अब आसाराम को जोधपुर एम्स भेजने की तैयारी की जा रही है.

बहरहाल, पिछले दिनों जोधपुर की सेंट्रल जेल में करीब एक दर्जन कैदी कोरोना पॉजिटिव पाये गये थे. इसके बाद सभी कोरोना पॉजिटिव कैदियों को जेल की डिस्पेंसरी में ही आइसोलेट किया गया था. इसी बीच अब अन्य कैदियों में भी कोरोना संक्रमण के लक्षण देखने को मिले थे, तब आसाराम का सैंपल जांच के लिए भेजा गया था. इसके बाद बुधवार शाम कोरोना रिपार्ट पॉजिटिव आने के बाद आसाराम की तबीयत खराब हो गयी.हालांकि यह पहली बार नहीं है जब आसाराम को अस्‍पताल में भर्ती करवाया गया है. इसी साल फरवरी में उनको तबीयत खराब होने की शिकायत के बाद महात्‍मा गांधी अस्‍पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया था.

रेप के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे आसाराम

बता दें कि आसुमम थाउमल हरपलानी उर्फ आसाराम नाबालिग लड़की से रेप के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे हैं. यही नहीं, रेप के मामले में दोषी करार दिए गए आसाराम पर नरबलि और हत्‍या जैसे कई गंभीर आरोप हैं. एक समय था जब आसाराम के दरबार में देश की जानी मानी हस्तियां दस्‍तक देती थीं, लेकिन 2013 में रेप के मामले में फंसने के बाद उनके बुरे दिन शुरू हो गए थे और तब से आसाराम जेल में बंद हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here