Home बीकानेर मेडिकल कॉलेज का पहला ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट देर रात प्रारंभ, हवा से...

मेडिकल कॉलेज का पहला ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट देर रात प्रारंभ, हवा से प्रतिदिन 150 सिलेंडर क्षमता की आक्सीजन, देखें विडियो

0

कोरोना के गंभीर मरीजों के इलाज के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता से जुड़ी किसी भी चुनौती से निपटने के मद्देनजर जिला कलेक्टर नमित मेहता ने शनिवार देर रात ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट का उद्घाटन किया।
मेहता ने सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज में स्थापित किए गए इस पहले आक्सीजन जेनरेशन प्लांट का बटन दबाकर आक्सीजन बनाए जाने की प्रक्रिया की शुरुआत की।

इस जेनरेशन प्लांट के जरिए वातावरण से ऑक्सीजन जनरेट कर आक्सीजन की एमसीएच विंग में प्रत्यक्ष सप्लाई की जा सकेगी। कालेज प्राचार्य ने बताया कि इस प्लांट से प्रतिदिन डेढ़ सौ से अधिक सिलेंडर क्षमता तक ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा सकेगी । इसे डीएमएफटी फंड के जरिए लिया गया है। इस प्लांट की लागत एक करोड़ रुपए से अधिक की है। प्लांट 4 दिन पहले ही बीकानेर पहुंचा था। इस दौरान जिला कलेक्टर ने सभी व्यवस्थाएं भी देखी और अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

जिला कलेक्टर मेहता ने कहा कि किसी भी परिस्थिति में ऑक्सीजन की कमी नहीं होनी चाहिए, इसके लिए ऑक्सीजन के अपव्यय को रोकने पर भी विशेष ध्यान दें। ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट का दौरा करते हुए जिला कलेक्टर ने उपस्थित अधिकारियों से पूछा कि खर्च होने वाली आक्सीजन के संबंध में रिकॉर्ड का संधारण किस प्रकार किया जा रहा है।

जिला कलेक्टर मेहता ने देर रात कोरोना डेडीकेटेड एमसीएच विंग का जायजा लेते हुए व्यवस्थाएं देखी और अधिकारियों को आवश्यक दिशा नर्देश दिए । एमसीएच विंग में स्थापित किए गए वार रूम और हेल्प डेस्क की जानकारी ली और राउंड द क्लोक तैनात अधिकारियों की ड्यूटी की भी जांच की। इस अवसर पर मेहता ने कहा कि किसी भी मरीज को परेशानी आने की स्थिति में तुरंत वार रूम संपर्क करें। यदि वार रूम या हेल्पडेस्क में किसी भी स्तर पर कोताही दिखाई देती है तो संबंधित के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

जिला कलेक्टर ने कहा कि साफ सफाई को लेकर किसी प्रकार की लापरवाही ना हो, नियमित रूप से निरीक्षण कर अधिकारी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद रखें। मेहता ने डे केयर सेंटर का भी निरीक्षण किया और व्यवस्थाओं की जानकारी ली।

इस दौरान सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज डॉ. मुकेश चंद्र आर्य, पीबीएम अधीक्षक डॉ. परमिंदर सिरोही, डॉ. जितेंद्र आचार्य सहित वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी और प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित रहे।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here