Home राजस्थान एक लाख की रिश्वत लेते JTA गिरफ्तार:विकास कार्यों के भुगतान के लिए...

एक लाख की रिश्वत लेते JTA गिरफ्तार:विकास कार्यों के भुगतान के लिए कर रहा था परेशान; बिल पास करने के लिए मांगी रकम, सरपंच और ग्राम विकास अधिकारी की भूमिका संदिग्ध

0

जिले में ACB ने शनिवार को सिवान पंचायत समिति के JTA (जूनियर टेक्निकल असिस्टेंट) देवेन्द्र (50) पुत्र मालवीय को 1 लाख की रिश्वत लेते ट्रैप किया है। आरोप है कि देवेन्द्र ठेकेदार से ग्राम पंचायत के निर्माणाधीन कार्यों की मजदूरी और बिलों का भुगतान करने की एवज में रिश्वत ले रहा था।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ACB रामनिवास के मुताबिक, एक ठेकेदार ने परिवाद दिया था कि देवेन्द्र ग्राम पंचायत बेरी नाडी में करवाए गए कार्यों की मजदूरी व बिलों के भुगतान के लिए एक लाख रुपए मांग रहा है। ACB टीम ने शुक्रवार को सत्यापन किया। मामला सही पाए जाने पर शनिवार को ट्रैप की कार्रवाई को अंजाम दिया गया।

पंचायत समिति क्वार्टर में रंगेहाथ पकड़ा

ठेकेदार ने पंचायत समिति क्वार्टर में एक लाख रुपए देन के लिए गया। एक लाख रुपए लेते ही ACB टीम ने जेटीए को रंगे हाथों गिरफ्तार किया। ठेकेदार ने बताया कि सिवाना पंचायत समिति की ग्राम पंचायत बेरी नाडी में मनरेगा और सामान्य योजनाओं के तहत कार्य करवाए गए थे। श्रम और सामग्री का भुगतान बाकी था। JTA जिसको देने से आनाकानी कर रहा था। उसने ग्राम विकास अधिकारी और सरपंच के नाम से एक लाख रुपए की रिश्वत ली।

सरपंच और ग्राम विकास अधिकारी की भूमिका की हो रही जांच
कार्रवाई के दौरान ACB टीम ने ग्राम विकास अधिकारी से फोन पर सम्पर्क किया। बार-बार फोन करने पर भी कॉल रिसीव नहीं हुआ। वहीं, गांव की सरपंच महिला है। उसके बेटे ने कहा कि हमारा कोई लेना-देना नहीं है। ACB टीम सरपंच और ग्राम विकास अधिकारी की भूमिका को लेकर भी जांच कर रही है।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here