Home क्राइम ऑनलाइन क्लिकिंग फ्रॉड: 900 से 5000 रुपए रोज कमाने का लालच देकर...

ऑनलाइन क्लिकिंग फ्रॉड: 900 से 5000 रुपए रोज कमाने का लालच देकर ट्रैप, फर्जी एप से आ रहे ठगी के मैसेज

0
ऑनलाइन क्लिकिंग फ्रॉड: 900 से 5000 रुपए रोज कमाने का लालच देकर ट्रैप, फर्जी एप से आ रहे ठगी के मैसेज
  • एसपी अपने सोशल मीडिया हैंडल से कर रहे लोगों को जागरुक

इन दिनाें जल्दी पैसा कमाने की चाहत में लाेग ठगे जा रहे हैं। इसलिए ऑनलाइन क्लिकिंग फ्रॉड के मामले बढ़ रहे हैं। सोशल मीडिया और मैसेज के जरिए 900 से लेकर 2-5 हजार रुपए रोज कमाने का लालच देकर चाइनीज कंपनियां ट्रैप चला रही हैं। इसके अलावा झारखंड, बिहार, दिल्ली और अन्य राज्याें में भी ऐसे ठग सक्रिय हैं, जाे जल्दी पैसा कमाने का झांसा देकर रुपए ठग लेते हैं।

ऑनलाइन क्लिकिंग फ्रॉड के मामलाें से पता चलता है कि ये फर्जी कंपनियां एप्लीकेशन बनाकर लाेगाें काे माेबाइल पर मैसेज फारवर्ड करती हैं। इनमें प्रलोभन दिया जाता है कि घर बैठे केवल माेबाइल फाेन से राेजाना 5 हजार रुपए तक कमाए जा सकते हैं। इन एप्लीकेशन के जरिये आईडी बनाने के 10 हजार रुपए लगते हैं।

इसके बदले में आपको रोज 900 से लेकर 2000 रुपए तक मिलेंगे। इनमें तरह-तरह एप्लीकेशन काम करती हैं। कुछ एप्लीकेशन शुरुआत में रुपए भेज देती हैं, लेकिन अच्छी संख्या में ग्राहक बढ़ने के बाद ये एप्लीकेशन अपने आप बंद हो जाती हैं।

ज्यादातर मामलों में ऐसी वेबसाइट फर्जी ही निकलती हैं। कुछ वेबसाइट भी आपको घर बैठे केवल क्लिक करने के बदले पैसे देने का ऑफर देती हैं। भीलवाड़ा पुलिस ने अपने साेशल मीडिया हैंडल पर इस तरह की फर्जी एप्लीकेशन से सतर्क रहने के लिए जागरुक रहने का आह्वान किया है।

ऐसे बचें धोखे से… समझ लें कि एक क्लिक के बदले हजारों रुपए क्यों मिलेंगे?

  • कुछ कंपनियां अपने प्रमाेशन के लिए ऑनलाइन क्लिक करने के बदले रुपए देती भी हैं, लेकिन इसे सतर्क रहकर ही आगे बढ़ना चाहिए। सबसे पहले तो इस बात से सचेत हो जाना चाहिए यदि घर बैठे क्लिक करवाकर पैसे देने के बदले में कोई आपके भारी रकम की मांग करता है। साफ तौर पर अगर क्लिक के बदले पैसे दिए जा रहे हैं तो उस कंपनी को आपसे पैसे की जरूरत क्यों होगी?
  • लॉटरी के नाम पर आपसे आपके बैंक खातों, डेबिट कार्ड्स, पैन कार्ड की डिटेल क्यों मांगी जा रही है? सिर्फ अकाउंट नंबर और आईएफएससी कोड और खाते का प्रकार बताकर आपको पैसे ट्रांसफर हो सकते हैं।
  • कुछ कंपनियां अपने प्रमाेशन के लिए ऑनलाइन क्लिक करने के बदले रुपए देती भी हैं, लेकिन इसे सतर्क रहकर ही आगे बढ़ना चाहिए। सबसे पहले तो इस बात से सचेत हो जाना चाहिए यदि घर बैठे क्लिक करवाकर पैसे देने के बदले में कोई आपके भारी रकम की मांग करता है। साफ तौर पर अगर क्लिक के बदले पैसे दिए जा रहे हैं तो उस कंपनी को आपसे पैसे की जरूरत क्यों होगी?
  • लॉटरी के नाम पर आपसे आपके बैंक खातों, डेबिट कार्ड्स, पैन कार्ड की डिटेल क्यों मांगी जा रही है? सिर्फ अकाउंट नंबर और आईएफएससी कोड और खाते का प्रकार बताकर आपको पैसे ट्रांसफर हो सकते हैं।
  • कलेक्टिव स्कीमों के जरिए पैसा बनवाने वालों के पास अपने कारोबार के वैध होने का कोई सबूत नहीं होता है। कलेक्टिव स्कीमों के जरिए पैसा बनवाने वालों के पास अपने कारोबार के वैध होने का कोई सबूत नहीं होता है।

ऑनलाइन फ्रॉड के लिए फर्जी कंपनियां ऐसे लुभावने ऑफर से देती है

  • वेबसाइट को क्लिक करवाने के नाम पर घर बैठे पैसा देने का ऑफर।
  • लॉटरी पाने के नाम पर ईमेल के जरिए बैंक अकाउंट, पैन नंबर आदि की जानकारी लेना।
  • नामी गिरामी कंपनियों के नाम पर ईमेल के जरिए नौकरी का ऑफर।
  • कलेक्टिव इनवेस्टमेंट स्कीम के नाम पर भारी रिटर्न का वादा।
  • इंश्योरेंस रेगुलेटरी अथॉरिटी (आईआरडीए) के नाम पर इंश्योरेंस पॉलिसी बेचना।

आईआरडीए पॉलिसी बेचने के लिए नहीं कहती
घर बैठे पैसा कमाने के लालच में फर्जी एप्लीकेशन्स और वेबसाइट के झांसे में आकर कई लाेग आए दिन धाेखाधड़ी के शिकार हाेते हैं। ऐसे लाेग बाद में पुलिस के पास पहुंचते हैं, लेकिन एप्लीकेशन बंद हाेने पर कार्रवाई करना मुश्किल हाे जाता है। इसके लिए पुलिस विभाग के साेशल मीडिया हैंडल्स के जरिये सतर्क करने का अभियान चला रही है।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here