Home राजस्थान राजस्थान में कोरोना का फिर से रोना, 24 घंटे में मिले 110 मरीज, CM...

राजस्थान में कोरोना का फिर से रोना, 24 घंटे में मिले 110 मरीज, CM गहलोत ने जताई चिंता

0
Corona Update: राजस्थान में कोरोना का फिर से रोना, 24 घंटे में मिले 110 मरीज, CM गहलोत ने जताई चिंता

 

जयपुर. राज्य के कई जिलों में शून्य केस तक पहुंच चुके कोरोना ने फिर अपने डैने फैलाने शुरू कर दिए हैं. पिछले चौबीस घंटे में 110 प्रतिशत और 15 दिन में 358 प्रतिशत कोरोना के मरीज राज्य में बढ़े हैं. अब तक 21 जिलों में संक्रमण होने की पुष्टि हो चुकी है. यदि अभी संभले नहीं तो राज्य में दम तोड़ता कोरोना फिर से दम भरने लगेगा और हम एक और लहर की ओर जा सकते हैं. इससे चिंतित सीएम अशोक गहलोत ने सोशल मीडिया पर प्रदेशवासियों के नाम जारी संदेश में कहा कि, ‘कोरोना से जीती जंग कहीं हम हार न जाएं, इसलिए हर जरूरी सावधानी अपनाएं.’

प्रदेश में लगातार कम होते केसों के चलते सरकार और लोगों ने यह मान लिया कि प्रदेश से यह मर्ज चला गया. इसी के चलते स्कूल, कालेज, मॉल, मंदिर, संस्थान सभी कुछ खुल गए. भीड़ वाले क्षेत्रों में कोरोना के नियमों, सोशल डिस्टेसिंग की लोग खूब धज्जियां उड़ाने लगे. देश के पांच राज्य पहले से ही कोरोना की दूसरी लहर पर सवार हैं. सिर्फ महाराष्ट्र और केरल से आने वाले लोगों को छोड़कर अन्य सभी को राज्य में बेरोकटोक आने-जाने की छूट है. इन सबके चलते कोरोना ने एक बार फिर वार करना शुरू कर दिया है. पिछले 24 घंटे में ही 110 प्रतिशत केसों में बढ़ोत्तरी इसका प्रमाण है.

टॉप 15 राज्यों में शामिल
राजधानी जयपुर में एक माह बाद एक साथ 40 केस मिले. वहीं डूंगरपुर में कोरोना विस्फोट हुआ और एक दिन में ही पचास केस आ गए. राज्य में पिछले 24 घंटे में पॉजिटिव मरीजों की संख्या 102 से बढ़कर 215 तक पहुंच गई है. राज्य मेे 21 जनवरी कोे 265 केस मिले थे, उसके बाद अब इतने संक्रमित केस आए. इसके साथ ही राज्य पिछले 24 घंटे में पॉजिटिव मरीजों के मिलने के मामले मे देश के टॉप 15 राज्यों में शामिल हो गया हैे.

सीएम अशोक गहलोत rajasthan corona, राजस्थान कोरोना, covid 19 update

राजस्थान में कोरोना केस में फिर से तेजी पर सीएम अशोक गहलोत ने चिंता जाहिर की है.

कांग्रेस विधायक नहीं लगवा रहे टीका
राजस्थान में 10 मंत्रियों और 58 विधायकोें को कोरोना हुआ. वैक्सीन आने के बाद से सरकार लगातार वैक्सीनेशन के लिए अभियान चला रही है। लाखों लोगों को वैक्सीन लग भी चुकी है. बीजेपी विधायक तो कोरोना का टीका लगवा रहे हैं, लेकिन एक—दो को छोड़कर कांग्रेस के विधायकों को वैक्सीनेशन नहीं कराया है. ऐसे में कांग्रेस और सरकार पर पर उपदेश कुशल बहुतेरे की कहावत चरितार्थ हो रही है।

मर्ज बढ़ने के ये रहे कारण

    • मास्क के प्रति जागरुकता बढ़ी है, लेकिन सार्वजनिक स्थानों पर भी बगैर मास्क लगाकर घूमने वालों को पूछने वाला कोई नहीं है. चालान की कार्रवाई नाममात्र की है.

 

    • सार्वजनिक स्थानों रेलवे स्टेशन, अस्पताल, बस स्टैंड, धाार्मिक स्थल, शिक्षण संस्थानों में सोशल डिस्टेंसिंग की पालना अब पहले जैसी नहीं हो रही है.

 

    • दूसरे राज्यों से आने वालों पर अब निगरानी नहीं हो रही है. महाराष्ट्र और केरल को छोड़ दें तो अन्य राज्यों के लोगों के लिए सख्ती या मॉनिटरिंग की कोई व्यवस्था नहीं है.

 

    • पॉजिटिव मरीज मिलने पर उसकी पहले जैसी निगरानी नहीं हो रही है न ही क्वारेंटाइन होने की सख्ती है, जिससे संक्रमण दूसरे लोगों में भी फैलने का खतरा बना हुआ है.

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here