Home बीकानेर पुलिस के नाक के नीचे खुले घुम रहे हत्या के आरोपी, परिवार...

पुलिस के नाक के नीचे खुले घुम रहे हत्या के आरोपी, परिवार मांग रहा है न्याय

0

बीकानेर। बीकानेर शहर में बदमाशों के हौसले इतने बुलंद हो गये कि अब तो पुलिस भी इन भी हाथ नहीं डाल रही है शहर में आये दिन फायरिंग, डकैती, लूट की घटनाएं होती रहती है जिसमें सबसे ज्यादा घटनाएं नया शहर थाना क्षेत्र में घटित होती है। ऐसा ही एक मामला आज से ठीक दो महिले पहले हुए जिसमें 10 लोगों ने आम रास्ते पर एक युवक पर तबाड़तोड़ हथियारों से हमला कर घायल कर दिया जिसकी बाद में इलाज के दौरन मौत हो गई थी। लोगों ने हत्यारे को पकडऩे के लिए प्रदर्शन किया तो पुलिस ने दबाब में 6 लोगों को उस समय गिरफ्तार कर लिया बाकी 4 आरोपी इस मामले से जुडे आज भी खुले घुम रहे है। गौरतलब रहे कि 20 दिस की शाम राहुल उर्फ गोपाल व्यास के लिए मौत की रात बनकर सामने आई जब वह अपने दोस्तों के पास गोविन्द पैलेस के पास खड़ा था तभी पहले से रंजिश रखने वाले जीतू राजपुत, जसवंत पुरी, योगेश पुरेाहित, शीश कुमार करमीसर, राजेन्द्र निवासी जनता प्याऊ व 8 से 10 लोग अन्य आये और उसके साथ मारपीट करने लगे इन सभी के पास लाठियां, सरिये व तलवारें थी जिनसे उन्होंने उसके शरीर पर ताबड़तोड़ वार किये जिससे गोपाल के शरीर में गंभीर चोटे आई थी उसे गंभीर अवस्था में पीबीएम अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत गई थी। पुलिस ने इस मामले में सभी आरोपियों के खिलाफ धारा 307, 323, 341, 142 भादस के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरु की। जिसमें पुलिस ने करीब 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन इसी मामले में जसंवत, शिशपाल, राजेन्द्र, महेश पुरी तक पुलिस नहीं पहुंच पाई जब भी परिवार जन पुलिस से संपर्क करती है कि बाकी आरोपियों को पकड़ लिया तो पुलिस का एक ही जबाब होता है कि उनको पकडऩे के लिए दबिश दी जा रही है लेकिन अब तक पुलिस के हाथ नहीं लगे है। जबकि परिवार जनों व मृतक के दोस्तों ने बताया कि गोपाल के हत्यारे शहर में खुले आम घुम रहे है। इस मामले में मृतक के भाई ने सभी लोगों पर हत्या का मामला दर्ज करवाया था।

 

कब बंद होगे शहर में बदमाशों का खौफ
शहर में जिस तरह से बदमाशों ने अपना आंतक मचाया है जिससे शहरवासी बुरी तरह से डरे हुए है पहले प्राय: देखने आता शहर की तंग गलियों में लोगों का आना जाना देर रात तक चलता लेकिन पिछले दिनों से जिस तरह शहर में अपराध की घटनाएं बढ़ी है लोग शाम होते होते अपने अपने घरों में घुस जाते है। लोगों का एक ही कहना कब बंद होगा इन बदमाशों का खोफ

नशे का कारोबार बढ़ा
शहर में अगर देखा जाये तो नशे का कारोबार चरम पर है देखने में आ रहा है कि शहर के आस पास इलाको में शाम होते ही चरस, गांजा, शराब के पैक उड़ते है आज का युवा पीढ़ी नशे के इस गंदे खेल में फंसती नजर आ रही है जो नशे करने के बाद अपराध की ओर अग्रसर हो जाती है क्योकि नशे करने के लिए धन चाहिए और धन के लिए वह गलत तरीके से धन कमाने के लिए गलत काम करते है।

पुलिस की नाकामी
हत्या के तीन महिने के बाद पुलिस के द्वारा आरोपियों को नहीं पकडऩा पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगता है। एक तरफ पुलिस अधीक्षक दावे कर रही है सभी मामलों को तुंरत हल कर दिये जायेगें लेकिन हत्या जैसे गंभीर आरोपों में लिप्त बदमाशों को पुलिस अब तक नहीं पकड़ रही है जिससे उन बदमाशों के हौसले और भी बुलंद हो गये कि पुलिस उनका कुछ नहीं बिगड़ा सकते है। जिससे वह और अपराध करने से नहीं चुकते है।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here