इंस्टाग्राम पर खुद को बताया माफिया, हथियारों की फोटो डाली:माफिया फौजी नाम से आईडी बना रखी थी, पुलिस ने पकड़ा

इंस्टाग्राम पर खुद को बताया माफिया, हथियारों की फोटो डाली:माफिया फौजी नाम से आईडी बना रखी थी, पुलिस ने पकड़ा
07 .
5
width="350px" ..... ... width="220px"

सोशल मीडिया पर गन लवर बनना जेल तक पहुंचा सकता है। बीकानेर में ऐसे सोशल मीडिया ग्रुप्स पर पुलिस की निगरानी है और हर रोज एक-दो युवकों की गिरफ्तारी हो रही है। बीकानेर पुलिस ने दो युवकों को गिरफ्तार किया है। इन युवकों ने इंस्टाग्राम पर माफिया फौजी नाम से आईडी बना रखी थी, जिस पर पिस्तौल व अन्य हथियार के फोटो पोस्ट किए गए। इस पर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

दरअसल, बीकानेर आईजी ओमप्रकाश के निर्देश पर रेंज के चारों जिलों में ऑपरेशन साइबर क्लीन चल रहा है। इसी के तहत नापासर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। सोशल मीडिया इन्सटाग्राम पर "माफिया फोजी" के नाम से बनी आईडी को सर्विलांस पर लिया गया। इस आईडी पर पिछले दिनों हथियारों की फोटो डाली गई। कई ऐसे स्टेटस भी लगाए गए जो गन लवर को बढ़ावा देने वाले थे। नापासर थानाधिकारी जगदीश पाण्डर हथियार के साथ फोटो अपलोड करने पर महज 21 साल के गजानन्द जाट पुत्र भंवरलाल निवासी शेरेरां व बीस साल के राकेश जाट पुत्र भंवरलाल निवासी शेरेरां को गिरफ्तार किया गया है।

सोशल मीडिया पर आपराधिक प्रवृति के लोगों व हथियारों के साथ फोटो अपलोड करने व उनकी पोस्ट व रील को शेयर करने से नवयुवकों को अपराध की तरफ आकर्षित कर प्रेरित करना अपराध माना जा रहा है। पुलिस का मानना है कि इससे भय व्याप्त होता है तथा क्षेत्र की शांति व कानून व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। गिरफ्तार आरोपीगण का उक्त कृत्य कानूनन अपराध की श्रेणी में आता है। अतः इस प्रवृति पर अंकुश लगाने के लिए सोशल मीडिया पर लगातार निगरानी रखी जा रही है। कार्रवाई करने वाली टीम में थानाधिकारी जगदीश प्रसाद, एएसआई भागीरथराम कांस्टेबल शिवप्रकाश और सुरेश कुमार शामिल थे।