एटीएम के साथ छेड़छाड़ करने वाला आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे

एटीएम के साथ छेड़छाड़ करने वाला आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे
width="75px" width="575px" width="575px"
width="575px" width="575px"
width="175px" width="475px" width="375px"

एटीएम से छेड़छाड़ कर कई जगह हजारों रुपए निकालने वाला शातिर जंक्शन थाना पुलिस की पकड़ में आ गया है। पुलिस ने आरोपी को अजमेर के पास से गिरफ्तार किया है। नागौर थाना के हिस्ट्रीशीटर बहादुर चौकीदार (32) पुत्र प्रहलाद राम चौकीदार निवासी कुलियाना ज्यानियों की ढाणी परबतसर पीलवा नागौर को गिरफ्तार किया है।
पुलिस के मुताबिक आरोपी ने जंक्शन क्षेत्र में दो जगह और डबली राठान में एक एटीएम से छेड़छाड़ कर हजारों रुपए निकाले थे। एसबीआई के एटीएम में कई जगह हुई गड़बड़ी से पुलिस महकमे पर आरोपी को पकडऩे का खास दबाव था और आखिरकार इसमें कामयाबी भी मिली है। सफलता हासिल करने वाली टीम में जंक्शन थाना प्रभारी नरेश गेरा, हैड कांस्टेबल मनीष, कांस्टेबल मंहगा सिंह, प्रवीण कुमार शामिल रहे। कार्रवाई में साईबर सैल के कांस्टेबल मनोहर लाल और सुरेंद्र का भी बड़ा योगदान रहा।


इस तरह देता था वारदात को अंजाम
पुलिस ने बताया कि आरोपी बहादुर चौकीदार एक चिमटी की मदद से एटीएम से राशि निकालता था। पहले 500 रुपए निकालने की एंट्री करता था और फिर डिस्पेंसिंग ट्रे में एक चिमटी अटका देता था। इससे एटीएम से राशि तो निकलती थी, लेकिन खाते में निकाली गई राशि की एंट्री नहीं हो पाती थी। पुलिस इस शातिर अपराधी की कार्यप्रणाली को पूरी तरह से समझने की कोशिश कर रही है।


पुलिस को छकाता रहा आरोपी
एटीएम से छेड़छाड़ कर रुपए निकालने के आरोपी को पकडऩे के लिए पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज से लेकर संदिग्ध व्यक्तियों के रिकार्ड तलाशने और मोबाइल लोकेशन ट्रेस करने तक का सहारा लिया। लेकिन, आरोपी लगातार पुलिस टीम को छकाता रहा। आरोपी बार-बार मोबाइल भी बदल रहा था। यही वजह रही कि पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। आरोपी अलग-अलग जगहों पर वारदात अंजाम देने के लिए सफर करता रहा। वहीं पुलिस टीम ने अपने मुखबिरों की टीम को अलर्ट रखते हुए इसे आखिरकार गिरफ्तार कर लिया।


कई वारदात को दे चुका है अंजाम
बहादुर चौकीदार एटीएम में छेड़छाड़ व इस तरह की लूट का मास्टरमाइंड है। पुलिस के मुताबिक आरोपी नागौर जिले के पीलवा थाना का हिस्ट्रीशीटर है और आला दर्जे का एटीएम चोर है। आरोपी के खिलाफ पूर्व में एटीएम उखाडऩे व एटीएम हैंग कर रुपए चुराने के करीब 15 मामले दर्ज हैं। आरोपी ने प्रारंभिक पूछताछ में हनुमानगढ़ के अलावा सूरतगढ़, नागौर, जोधपुर, अजमेर, नागपुर आदि जगहों पर वारदात की बात कबूली है। पहले एटीएम उखाडऩे के मामलों में यह गैंग बनाकर काम करता था लेकिन अब अकेले ही वारदात को अंजाम देता है। हालांकि पुलिस पूछताछ में अन्य लोगों की संलिप्तता भी सामने आ सकती है।


यह था मामला
एटीएम में नकदी डालने के लिए अधिकृत कंपनी टीएसआई के संभाग अधिकारी आदित्य काठजू ने 2 सितंबर को जंक्शन थाना में सूचना दी थी कि एटीएम से छेड़छाड़ कर 27 अगस्त की सुबह चूना फाटक के नजदीक एटीएम से 23 हजार रुपए व 28 अगस्त को सुबह भगतसिंह चौक स्थित एटीएम से 20 हजार रुपए कोई अज्ञात व्यक्ति एटीएम मशीन से छेड़छाड़ कर निकाल लिए गए। इस मामले में मामला दर्ज कर जांच शुरू की गई थी। यह मामले तब दर्ज हुए थे जब टाउन स्थित एक एटीएम में से भी छेड़छाड़ कर राशि निकालने की जानकारी बैंक अधिकारियों को हुई। इसके बाद जंक्शन व डबली, राठान में हुई वारदात का भी पता लगा। अभी पकड़े गए आरोपी ने कई जगह एटीएम गड़बड़ी की वारदातों को अंजाम दिया है, लेकिन टाउन में हुई वारदात में इसका हाथ नहीं बताया जा रहा है।

.

.

.

The vicious junction police station, who had withdrawn thousands of rupees by tampering with ATMs, has come in the custody of the police. The police has arrested the accused from near Ajmer. History-sheeter Bahadur Chowkidar (32) son Prahlad Ram Chowkidar of Nagaur police station has arrested Parbatsar Pilwa Nagaur, a resident of Kuliana Jyani.
According to the police, the accused had tampered with an ATM at two places in the junction area and in Dabli Rathan and withdrew thousands of rupees. Due to several disturbances in SBI ATM, there was special pressure on the police department to nab the accused and finally it has been successful. The team that achieved success included junction station in-charge Naresh Gera, head constable Manish, constable Manhaga Singh, Praveen Kumar. Cyber ​​cell constables Manohar Lal and Surendra also contributed a lot in the action.


In this way he used to execute the crime
Police said that the accused Bahadur Chowkidar used to withdraw money from the ATM with the help of a tweezers. First used to enter 500 rupees to withdraw and then stuck a tweezers in the dispensing tray. Due to this, the amount was withdrawn from the ATM, but the amount withdrawn in the account could not be entered. The police is trying to fully understand the working of this vicious criminal.


The accused kept dodging the police
To nab the accused of withdrawing money by tampering with the ATM, the police resorted to CCTV footage to search the records of the suspects and trace the mobile location. But, the accused continued to dodge the police team. The accused was also changing the mobile frequently. This was the reason that the police had to work hard. The accused kept on traveling to different places to commit the crime. At the same time, the police team, keeping its team of informers alert, finally arrested it.


Has done many crimes
Bahadur Chowkidar is the mastermind of ATM tampering and such robbery. According to the police, the accused is a history-sheeter of Peelwa police station in Nagaur district and a top-class ATM thief. In the past, about 15 cases of stealing money by hanging ATMs and hanging ATMs are registered against the accused. Apart from Hanumangarh, the accused has confessed to the crime in places like Suratgarh, Nagaur, Jodhpur, Ajmer, Nagpur etc. Earlier, it used to work as a gang in cases of ATM uprooting, but now it alone carries out the crime. However, the involvement of other people can also come to the fore in the police interrogation.


this was the case
On September 2, Aditya Kathju, the divisional officer of TSI, the company authorized to put cash in the ATM, had informed at the junction police station that tampering with the ATM on the morning of 27 August, 23 thousand rupees from the ATM near Chuna Phatak and on 28 August morning at Bhagat Singh Chowk. An unknown person tampered with the ATM machine and took away 20 thousand rupees from the ATM. An investigation was started after registering a case in this matter. These cases were registered when the bank officials came to know about tampering with an ATM located in the town and withdrawing the amount. After this, the incident in Junction and Dabli, Rathan was also detected. The accused, who has just been caught, have carried out incidents of ATM disturbances at many places, but his hand is not being told in the incident in the town.