राज्य सरकार ने स्कूलों के लिए जारी की नई कोरोना गाइडलाइन, पढ़ें पुरी खबर

राज्य सरकार ने स्कूलों के लिए जारी की नई कोरोना गाइडलाइन, पढ़ें पुरी खबर
07
5
width="150px" 5m12c20d21 width="150px" 13m10c20d21s width="220px"

राज्य सरकार ने स्कूलों के लिए जारी की नई कोरोना गाइडलाइन, पढ़ें पुरी खबर.....

जयपुर/बीकानेर। राज्य के किसी भी सरकारी या गैर सरकारी स्कूल में कोरोना पॉजिटिव मिलता है तो उस स्कूल की छुट्‌टी नहीं होगी, बल्कि उस क्लास रूम को ही एक महीने के लिए बंद कर दिया जाएगा। स्कूल नियमित रूप से चलती रहेगी। वहीं सोमवार से राज्य के सभी स्कूल सौ प्रतिशत क्षमता के साथ खुल सकेंगे। इस संबंध में माध्यमिक शिक्षा निदेशक कानाराम ने स्ह्रक्क जारी की है।


माध्यमिक शिक्षा निदेशक कानाराम ने बताया कि प्री प्राइमरी से क्लास बारह तक के सभी स्टूडेंट्स को अब स्कूल जाना होगा। अगर कोई स्टूडेंट या स्टाफ सदस्य कोरोना पॉजिटिव आता है या उसमें कोई लक्षण मिलते हैं तो उस क्लास रूम को बंद कर दिया जाएगा, जिसमें वो बैठता है। स्टूडेंट में कोरोना के लक्षण होने पर उसे हॉस्पिटल पहुंचाने की जिम्मेदारी स्कूल की होगी। उसके लिए एम्बुलेंस की व्यवस्था करनी होगी।


नई व्यवस्था में अब स्कूल में प्रार्थना सभा फिर से हो सकेगी। पिछले डेढ़ साल से जब भी स्कूल ओपन हुए हैं, तब से प्रार्थना पर पूरी तरह रोक रही है। ऐसे में क्लास में ही प्रार्थना की व्यवस्था स्कूल स्तर पर लागू हो गई। अब स्कूल मैदान में प्रार्थना हो सकेगी। हालांकि इसके लिए भी सोशल डिस्टेंसिंग रखनी होगी। स्टूडेंट्स को दूरी बनाकर ही प्रार्थना करनी होगी। स्कूल में गेम्स एक्टिविटी करने की स्वीकृति दी गई है। हालांकि इससे पहले स्वयं विभाग प्रदेश में स्कूली गेम्स आयोजित कर रहा है।


बंद रहेगी कैंटीन
जिन स्कूल में कैंटीन संचालित हो रही है, वो फिलहाल बंद ही रहेगी। शिक्षा निदेशालय ने साफ तौर पर कहा है कि कैंटीन अभी शुरू नहीं हो सकेंगे। इसी तरह जिन स्कूल में मिड डे मिल तैयार होता है, वहां भी अभी रोक रहेगी। मिड डे मिल के लिए अलग से निर्देश जारी किए जाएंगे।


स्कूल बस से बाध्यता हटी
पूर्व में शिक्षा विभाग ने स्कूल बस या ऑटो में क्षमता से आधे स्टूडेंट्स ही बैठाने के आदेश दिए थे, लेकिन अब जितनी सीट उपलब्ध है, उतने स्टूडेंट्स बैठा सकते हैं। इसके लिए बस को नियमित रूप से सैनेटाइज करना होगा और चालक को वैक्सीन की दोनों डोज लगी होनी चाहिए।

.

.

.

State government issued new corona guideline for schools, read full news.....

Jaipur/Bikaner. If corona positive is found in any government or non-government school in the state, then that school will not have a holiday, but that class room itself will be closed for a month. The school will continue to run regularly. At the same time, from Monday, all the schools in the state will be able to open with 100 percent capacity. In this regard, the Director of Secondary Education Kanaram has issued a report.


Director of Secondary Education Kanaram said that all the students from Pre-Primary to Class XII will now have to go to school. If any student or staff member comes corona positive or shows any symptoms, then the class room in which he sits will be closed. If a student has symptoms of corona, it will be the responsibility of the school to take him to the hospital. An ambulance will have to be arranged for him.


In the new system, now the prayer meeting will be held again in the school. For the last one and a half years, whenever the schools have been opened, since then there is a complete ban on prayer. In such a situation, the system of prayer in the class itself was implemented at the school level. Now prayer can be done in the school grounds. However, for this also social distancing will have to be maintained. Students will have to pray only by maintaining a distance. Permission has been given to do sports activities in the school. However, before this the department itself is organizing school games in the state.


canteen will remain closed
The schools where the canteen is being operated will remain closed for the time being. The Directorate of Education has clearly said that canteens will not be started yet. Similarly, in the schools where the mid-day meal is prepared, there will still be a ban. Separate instructions will be issued for mid day meals.


Compulsion removed from school bus
Earlier, the education department had ordered to accommodate only half the students in the school bus or auto, but now the number of seats available can be accommodated. For this, the bus will have to be sanitized regularly and the driver should have both doses of the vaccine.