राजस्थान में पहली बार रोबोट करेगा ट्रैफिक कंट्रोल:जयपुर में जेडीए सर्किल पर होगा तैनात, घर भेजेगा रूल तोड़ने वालों का चालान

राजस्थान में पहली बार रोबोट करेगा ट्रैफिक कंट्रोल:जयपुर में जेडीए सर्किल पर होगा तैनात, घर भेजेगा रूल तोड़ने वालों का चालान
07 .
5
width="350px" ..... ... width="220px"

राजस्थान में ट्रैफिक पुलिस को अब जल्द ही रोबोट का भी साथ मिलेगा। यह रोबोट चौराहों पर पुलिसकर्मियों की तरह ट्रैफिक रूल फॉलो कराएगा। साथ ही रूल तोड़ने वालों पर कैमरों से नजर रखेगा। इससे बचकर निकलना मुश्किल होगा। प्रदेश में सबसे पहले यह रोबोट जयपुर के जेडीए सर्किल पर तैनात किया जाएगा। जेडीए और ट्रैफिक डिपार्टमेंट से इसकी मंजूरी मिल चुकी है।

4 फीट लंबा होगा रोबोट
कंपनी की ओर से दिए गए डेमो के मुताबिक यह रोबोट करीब 14 फीट हाइट का होगा। जिसे 6 फीट की ऊंचे सर्किल पर लगाया जाएगा। रोबोट का एक हाथ करीब 4.1 फीट लंबा होगा जबकि 2 फीट का हाथ और 2 फीट का ही सिर होगा। इसमें तीन अलग-अलग तरह के डिस्प्ले दिए जाएंगे। सबसे ऊपर के डिस्प्ले में में ट्रैफिक सिग्नल, दूसरे पर टाइमर और तीसरे पर गुजरने वाले व्हीकल्स की स्पीड शो होगी।

*हाईटेक कैमरों को होगी व्हीकल्स पर नजर
एडिशनल पुलिस कमिश्नर हैदर अली जैदी ने बताया कि अब प्रमुख चौराहों और सड़कों पर हाईटेक कैमरे लगाने की कवायद जारी है। इन कैमरों के जरिए नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों पर कार्रवाई की जा रही है। इसी कड़ी में शहर में जल्द ही रोबोट भी ट्रैफिक व्यवस्था संभालता हुआ नजर आएगा। जयपुर ट्रैफिक पुलिस को कई एजेंसियां संसाधन मुहैया करा रही हैं। जयपुर शहर में कई स्थानों पर हाई क्वालिटी के कैमरे लगाए गए हैं।

एक रोबोट से होंगे कई काम
जैदी के अनुसार जेडीए की ओर से जल्द एक रोबोट जयपुर ट्रैफिक पुलिस को मुहैया करवाया जाएगा। इस ट्रैफिक रोबोट सिस्टम की कीमत करीब 20 से 30 लाख रुपए के बीच होगी। रोबोट एलईडी डिस्प्ले, लाइट, सेंसर, टाइमर और कैमरों जैसे उपकरणों से लैस होगा। रोबोट के दोनों हाथ ट्रैफिक के हिसाब से खुद एडजस्ट होंगे। जो ग्रीन सिग्नल से गुजरने वाले वाहनों को ट्रेस करेंगे।
वहीं Wifi से कनेक्ट करने के बाद रोबोट के कैमरों का व्यू लैपटॉप, टेबलेट और आरएलवीडी सिस्टम से देखा जा सकेगा। इसमें लगे एलईडी डिस्प्ले पर ट्रैफिक के ग्रीन-रेड-येलो सिग्नल दिखेंगे। साथ ही कई महत्वपूर्ण संदेश की जानकारी मिलेगी।

देश में दूसरा शहर बनेगा जयपुर
देश में सबसे पहले ट्रैफिक रोबोट का इस्तेमाल मध्यप्रदेश के इंदौर में शुरू हुआ था। जयपुर देश में दूसरा शहर और दूसरी स्मार्ट सिटी होगा, जहां ट्रैफिक कंट्रोल के लिए रोबोट लगेगा।