राजस्थान :नशे में धुत एयर होस्टेस और उसके दोस्तों ने रेस्टोरेंट में किया हंगामा, थाने में भी मचाया उत्पात

राजस्थान :नशे में धुत एयर होस्टेस और उसके दोस्तों ने रेस्टोरेंट में किया हंगामा, थाने में भी मचाया उत्पात
07 .
5

रईसगिरी और स्टेट्स सिंबल के चलते युवा पीढ़ी शराब, सिगरेट एवं ड्रग्स के चंगुल में फंसती जा रही है। चिन्ता की बात यह है कि किशोरावस्था में भी लड़के-लड़कियां नशे की ओर बढ़ रहे हैं। आए दिन ऐसे प्रकरण सामने आ रहे हैं, जो समाज को सोचने पर मजबूर कर देते हैं। बुधवार को आधी रात को जयपुर के सिंधी कैम्प के पास स्थित टैक्सी चिकन ढाबा पर एक एयर होस्टेस सहित चार लोगों ने शराब के नशे में धुत होकर जमकर हंगामा मचाया। मौके पर पहुंची पुलिस को भी इन लोगों ने धमकियां दीं। बाद में सिंधी कैम्प थाना पुलिस ने इन्हें काबू में किया। इन चारों के खिलाफ मारपीट और तोड़फोड़ का मुकदमा दर्ज किया गया है।

जयपुर के केन्द्रीय बस स्टैंड सिंधी कैम्प के पास स्थित टैक्सी चिकन ढाबा पर 10 अगस्त की रात को झगड़े की सूचना मिली। पुलिस मौके पर पहुंची तो शराब के नशे में धुत युवक-युवतियां हंगामा कर रहे थे। दो युवक और दो युवतियां एक परिवार के सदस्यों से झगड़ रहे थे और गंदी-गंदी गालियां बक रहे थे। पुलिस के पहुंचने पर रुकने के बजाय ये उन्हें भी धमकाने लगे। खुद को प्रतिष्ठित घरों से होना बताकर सस्पेंड कराने की धमकियां देने लगे। थाने से अतिरिक्त पुलिस बल बुलाकर बड़ी मुश्किल से इनको काबू में किया और थाने ले जाकर गिरफ्तार किया गया।

जबरन गले पड़कर झगड़ने लगे, बोतल फेंककर गाड़ी के शीशे तोड़े
बुधवार रात को श्रद्धा नामक युवती अपने भाई और दोस्तों के साथ टैक्सी चिकन ढाबे पर खाना खा रही थी। रात करीब 11.30 बजे दो लड़के और दो लड़कियां आए। यह लोग श्रद्धा और उनके साथियों से झगड़ने लगे। श्रद्धा ने रेस्टोरेंट संचालक से शिकायत की। उनके कहने पर श्रद्धा और उनके दोस्तों ने टेबल बदल ली और दूर जाकर दूसरी टेबल पर खाना खाने लगे। नशे में धुत युवक-युवतियों ने फिर उन्हें परेशान करना शुरू किया और भद्दे कमेंट करते हुए गालियां बकने लगे। बहस के बीच श्रद्धा और उसके दोस्त खाना छोड़कर जाने लगे। मगर, युवक-युवतियों ने धक्का-मुक्की शुरू कर दी और कार पर शराब की बोलतें फेंकी। इससे गाड़ी का शीशा फूट गया।

एयर होस्टेस, बैंकर और कंप्यूटर इंजीनियर हैं आरोपी
सिंधी कैम्प थाना प्रभारी गुंजन सोनी ने बताया कि परिवादी श्रद्धा की रिपोर्ट पर कार्तिक चौधरी, विकास खंडेलवाल, नेहा शर्मा और प्राची सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। जयपुर निवासी कार्तिक चौधरी गुड़गांव में कंप्यूटर इंजीनियर है। उसके पिता राजस्थान हाईकोर्ट में एडवोकेट हैं। आरोपी प्राची सिंह एयर होस्टेस है जबकि नेहा शर्मा प्राइवेट बैंक में नौकरी करती है। शांति भंग के आरोप में पुलिस ने इन चारों के साथ परिवादी पक्ष के दो सदस्यों को भी गिरफ्तार किया। गुरुवार सुबह सभी की जमानत हो गई। बाद में श्रद्धा की रिपोर्ट पर कार्तिक, विकास, नेहा और प्राची के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया।