सलमान को मारने की कोशिश करने वाला राजस्थान का गैंगस्टर:पनवेल फार्म हाउस के लिए रची साजिश

सलमान को मारने की कोशिश करने वाला राजस्थान का गैंगस्टर:पनवेल फार्म हाउस के लिए रची साजिश
...
width="120px" width="175px"

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला के मर्डर में शामिल चूरू जिले के राजगढ़ का गैंगस्टर कपिल पंडित एक बार फिर चर्चा में है। पंजाब पुलिस ने हाल ही में खुलासा किया कि 23 साल के कपिल पंडित ने लॉरेंस गैंग के इशारे पर बॉलीवुड एक्टर सलमान खान को मारने के लिए भी प्रयास कर चुका है। उसने पिछले 3 महीने में दो बार साजिश रची, लेकिन कामयाब नहीं हो पाया।

पंजाब पुलिस ने बताया कि कपिल पंडित ने अपने साथियों के साथ मिलकर सलमान को उनके मुंबई स्थित पनवेल फार्म हाउस आते-जाते समय रास्ते में मारने का प्लान बनाया था।

आखिर कौन है कपिल पंडित, जो सलमान को मारना चाहता है?

इस सवाल का जवाब जानने के लिए भास्कर टीम चूरू जिले के राजगढ़ पहुंची। इस शहर ने कई गैंगस्टरों को पनपते और मिटते देखा है। कोर्ट में दिनदहाड़े मर्डर से लेकर खूनी गैंगवार का भी ये शहर गवाह रहा है।

पढ़िए- कपिल पंडित के गैंगस्टर बनने की कहानी…

गांववाले पंडित के नाम से जानते हैं

पूरे देश में कुख्यात हो चुके कपिल को गांव वाले पंडित के नाम से जानते हैं। लोगों ने आखिरी बार उसे डेढ़ साल पहले देखा था।, जब कोरोना के चलते 28 अप्रैल को उसकी मां सुमित्रा पंडित की मौत हो गई थी। एक मई को वह पैरोल पर यहां आया था।

उस समय वह राजगढ़ के बहुचर्चित राजेंद्र गढ़वाल मर्डर मामले में अपने बड़े भाई अनिल के साथ चूरू की डिस्ट्रिक्ट जेल में बंद था।

दोनों भाई मां की मौत पर 15 दिन की पैरोल पर बाहर आए थे। इसके बाद अनिल तो दोबारा जेल लौट गया, लेकिन कपिल फरार हो गया। अब करीब डेढ़ साल बाद मूसेवाला मर्डर और सलमान खान को मारने की प्लानिंग बनाने में अब उसका नाम सामने आया है

गैंगस्टर कपिल पंडित के पिता विमल शर्मा मूल राजगढ़ (चूरू) के समीप बेवड़ गांव के रहने वाले हैं। करीब 25 साल पहले वो पत्नी सुमित्रा को लेकर राजगढ़ शहर में बस गए।

यहां रेलवे की लोको कॉलोनी में उन्होंने घर बना लिया। उनके दो बेटे कपिल और अनिल राजगढ़ में पले-बढे़। विमल अभी दिल्ली में दुकान करते हैं। उनकी 90 साल की बूढी मां भी यहीं रहने लग गई है।

दोनों भाइयों की पत्नियां पीहर में

अनिल और कपिल शादीशुदा हैं और दोनों की पत्नियां भी आपस में बहनें हैं। लोगों ने बताया, सास ज़िंदा नहीं है और दोनों के पति जेल में हैं।

ऐसे में समाज में फैलने वाली गलत बातों से बचने के लिए कपिल और अनिल की पत्नी अधिकतर समय अपने-अपने बच्चों के साथ झुंझनूं जिले के सूरजगढ़ के पास ठोठी गांव में पीहर में रहती हैं। कपिल के दो बेटे हैं।

इलाके में कपिल के नाम का इस कदर खौफ था कि लोकल लेवल पर कोई भी कैमरे पर उसके बारे में बात करने को तैयार नहीं हुआ।

पत्नी बोली- डेढ़ साल से नहीं देखा

आखिर में जब हम कपिल के घर पहुंचे तो उसकी बूढी दादी के साथ पत्नी मोनू मिली। पहले तो वो घबरा गई। फिर बोली- अब तो हर समय SOG और पुलिस वालों का डर सताता है। आए दिन वो आकर धमकाते हैं।

उनसे जब पूछा तो पता चला, वो अभी पीहर से आई हुई है। उसने कपिल को डेढ़ साल से न देखा और न ही उसे कोई पुख्ता खबर है। अब तरह-तरह की बातें हो रही हैं तो परेशान भी हैं।

जब हमने उससे कैमरे पर बात करनी चाही तो साफ़ मना कर दिया। बोली- ससुरजी रविवार को आएंगे, आप उनसे ही बात कर लेना। कपिल की कोई फोटो दिखाने को कहा तो बोली- कुछ नहीं है मेरे पास। इसके बाद दोबारा वो अपने काम में लग गई।

बड़े शराब कारोबारी बनना चाहते थे दोनों भाई

पुलिस इन्वेस्टिगेशन और लोकल पड़ताल में पता चला कि कपिल और अनिल दोनों भाई बड़े शराब कारोबारी बनना चाहते थे। इसी के चलते दोनों भाइयों ने राजगढ़ रेलवे स्टेशन के पास ही अंग्रेजी शराब का ठेका भी छुड़ा लिया था।

कपिल थोड़ा तेज तर्रार था और उसने लोकल लड़कों की एक गैंग भी बना ली थी। इस दौरान वहां एक बस ऑपरेटर राजेंद्र गढ़वाल भी था, जिसकी इलाके में तूती बोलती थी। वो अवैध शराब बेचने का व्यापार भी करता था। गढ़वाल के चलते दोनों पंडित भाइयों को बिजनेस में नुकसान हो रहा था। यहीं से धीरे-धीरे रंजिश शुरू हो गई।

मारपीट का बदला लेने के लिए गोली मारकर हत्या

गढ़वाल और उसके साथियों ने मिलकर कपिल और अनिल से मारपीट कर दी। उसी दिन शाम होते-होते करीब 4 बजे कपिल और अनिल ने 5-6 साथियों के साथ मिलकर घर में घुसकर राजेंद्र गढ़वाल पर अंधाधुंध गोलियां बरसाकर उसकी हत्या कर दी। इस दौरान वहां राजेन्द्र का बेटा सुनील और उसका साथी विनोद भी गंभीर रूप से घायल हो गए।

सीआई विष्णुदत्त सुसाइड से जुड़ा था नाम

गैंगस्टर कपिल पंडित के वकील एडवोकेट रामनिवास गुर्जर ने बताया कि गढ़वाल मर्डर केस की जांच तब राजगढ़ के सबसे चर्चित CI विष्णुदत्त विश्नोई कर रहे थे। गढ़वाल मर्डर की अगली रात 23 मई को विश्नोई ने अपने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

तब ये पूरा मामला पॉलिटिकल और हाई प्रोफाइल बन गया। ऐसी चर्चाएं भी थी कि कुख्यात गैंगस्टर संपत नेहरा ने पंडित भाइयों को परेशान नहीं करने के लिए उन्हें धमकी दी थी। हालांकि, इसको लेकर कभी कोई ठोस बात निकल कर सामने नहीं आई।

दोनों भाइयों पर 25-25 हजार का इनाम

सीआई विश्नोई के सुसाइड के बाद पुलिस ने गढ़वाल मर्डर के आरोपियों को पकड़ने के लिए कई कोशिश की। दोनों पंडित भाइयों पर 25-25 हजार रुपए का इनाम घाेषित किया गया।

आखिरकार पुलिस ने कपिल और अनिल के अलावा एक-एक कर सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। जहां से उन्हें जेल में भेज दिया गया था। इससे पहले फरारी के दौरान कपिल पर जयपुर में हुई एक बहुचर्चित डकैती में शामिल रहने और झुंझनूं में एक गाड़ी लूटने के भी मामले दर्ज हुए।

कपिल का संपत नेहरा से कनेक्शन

कुख्यात गैंगस्टर संपत नेहरा भी राजगढ़ के समीप कालोड़ी गांव का ही रहने वाला है। वो सोशल मीडिया और वॉट्सऐप कॉलिंग के जरिए इलाके के कई लड़कों के संपर्क में रहता है। माना जाता है कि कपिल भी ऐसे ही संपत के सम्पर्क में आया था।

संपत को भी लोकल लेवल पर मजबूत लड़कों के नेटवर्क की जरूरत थी, जो कपिल पूरी कर रहा था। पैरोल से फरार होने के बाद उसने नेहरा के जरिए पूरी तरह लॉरेंस गैंग को जॉइन कर लिया।

मूसेवाला मर्डर के बाद दुबई भागने वाला था

पंजाब के डीजीपी गौरव यादव ने हाल ही में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया है कि सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का छठा शूटर दीपक मुंडी और उसके दो साथी कपिल पंडित और राजिंदर जोकर फर्जी डॉक्युमेंट्स से दुबई भागने की योजना बना रहे थे।

जिन्हें अरेस्ट किया गया। मूसेवाला की हत्या के बाद मुंडी और कपिल दोनों एक साथ ही रह रहे थे और कनाडा के गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के निर्देश पर लगातार अपना ठिकाना बदल रहे थे। उसने लॉरेंस गैंग के इशारे पर सिद्धू मूसेवाला को मारने के इरादे से भी कई बार उसकी रेकी की थी।

मूसेवाला के मर्डर का मनाया था जश्न

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला के कत्ल के बाद उसके परिवार और फैंस में मातम पसरा था, लेकिन उसके कातिल जश्न मनाते रहे।

पुलिस से बेखौफ कातिल गुजरात के मुंद्रा पोर्ट पहुंचे। यहां समुद्र किनारे उन्होंने जश्न मनाया। इसके बाद फोटो शूट भी कराया था। इसके अलावा इनका कार में भी पंजाबी सांग्स पर हथियार लहराते हुए झूमने का एक वीडियो भी सामने आया था।

ये दोनों ही वीडियो शूटर अंकित सिरसा के मोबाइल में मिले थे। इन वीडियो में गैंगस्टर कपिल पंडित अपने साथी गैंगस्टर्स अंकित, दीपक मुंडी, सचिन भिवानी, प्रियवर्त फौजी और कशिश उर्फ कुलदीप के साथ जश्न मनाता नजर आया था।

सलमान को मारने की 4 बार प्लानिंग कर चुका लॉरेंस

सलमान खान को मारने के लिए लॉरेंस 4 बार प्लानिंग कर चुका है। इसके लिए उसने राइफल तक खरीदी। लॉरेंस ने शूटर संपत नेहरा को 2018 में सलमान को मारने के लिए मुंबई भेजा।

संपत के पास पिस्टल थी। सलमान पिस्टल की रेंज से काफी दूर रह गए। ऐसे में वह मार नहीं पाया। बाद में ज्यादा रेंज वाली एक राइफल चार लाख रुपए में खरीद कर संपत को दी गई। वह सलमान को मार पाता, उससे पहले ही पकड़ा गया।

इसके बाद लॉरेंस ने अब कपिल पंडित के जरिए सलमान को मारने के दो बार और प्रयास किए।

मूसेवाला के मर्डर से पहले रची सलमान को मारने की साजिश

लॉरेंस ने सलमान को मारने की साजिश मूसेवाला की हत्या करने से पहले रची थी। प्लान A के फेल हो जाने के बाद गैंग ने प्लान B तैयार किया था।

इस प्लान को गोल्डी बराड लीड कर रहा था। गोल्डी ने सलमान की हत्या करने के लिए कपिल पंडित को चुना था और यह तय हुआ था कि पनवेल फार्म हाउस जाने के वक्त हमला किया जाएगा।

सलमान के फार्महाउस के पास डेढ़ महीने रुके

इस प्लान को एग्जिक्यूट करने के लिए कपिल पंडित मुंबई के पनवेल में सन्तोष जाधव, दीपक मुंडी और बाकी शूटर्स के साथ एक किराए का कमरा लेकर रुका था, क्योंकि यहीं सलमान का फार्म हाउस है।

वो और उसके साथी यहां करीब डेढ़ महीने तक रुके। इन्होंने अपने कमरे में सलमान पर अटैक करने के लिए छोटे हथियार, पिस्टल और कारतूस भी जुटा रखे थे।

कपिल ने यह भी पता कर लिया था कि सलमान खान हिट एंड रन मामले के बाद से गाड़ी की स्पीड कम रखते हैं। सलमान जब भी पनवेल में अपने फार्म हाउस पर आते हैं, तब उनके साथ शेरा ही मौजूद होता है।

दार्जिलिंग में पकड़ा गया कपिल पंडित

हाल ही में 10 सितम्बर को पंजाब पुलिस ने गैंगस्टर कपिल पंडित को नेपाल बॉर्डर के नजदीक दार्जिलिंग में खारी बावड़ी के BOP पानी टंकी एरिये से गिरफ्तार कर लिया है। वो नेपाल के रास्ते देश छोड़ने की फिराक में था।

उसे फर्जी पासपोर्ट के जरिए काठमांडू से फ्लाइट पकड़कर दुबई में सेटल होना था। इसके लिए कनाडा में बैठे गैंगस्टर गोल्डी बरार के इशारे पर नेपाल में राजेंद्र जोकर नाम का गैंगस्टर उसकी मदद कर रहा था। पुलिस ने उसके साथ गैंगस्टर दीपक मुंडी और राजेंद्र जोकर को भी गिरफ्तार किया है।

सलमान को मारकर कम्युनिटी सेंटीमेंट्स कैश करना चाहता है लॉरेंस

लॉरेंस जोधपुर के बहुचर्चित काले हिरण शिकार मामले के चलते बॉलीवुड एक्टर सलमान खान का कत्ल करना चाहता है। सलमान 24 साल से हिरण प्रकरण में कोर्ट के चक्कर लगा रहे हैं। हाल ही में लॉरेंस ने कबूला था कि उसकी कम्युनिटी हिरण शिकार के खिलाफ है। इस कारण वो सलमान की जान लेना चाहता है।