देह व्यापार का भंडाफोड़, दो विदेशी लड़कियों सहित कैब चालक को दबोचा.....

देह व्यापार का भंडाफोड़, दो विदेशी लड़कियों सहित कैब चालक को दबोचा.....
07
5
width="150px" 5m12c20d21 width="150px" 13m10c20d21s width="220px"

देह व्यापार का भंडाफोड़, दो विदेशी लड़कियों सहित कैब चालक को दबोचा.....

नई दिल्ली। देह व्यापार में लिप्त उज्बेकिस्तान की दो युवतियों सहित एक व्यक्ति को क्राइम ब्रांच की टीम ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों में कैब चालक पूरन सिंह शामिल है, जो इन लड़कियों को ग्राहक के पास ले जाता था। देह व्यापार में इन लड़कियों के लिए 20 से 25 हजार रुपये एक रात का ग्राहक से चार्ज किया जाता था। इस बाबत क्राइम ब्रांच ने मामला दर्ज कर लिया है और इन लड़कियों से देह व्यापार कराने वाले रमेश की तलाश कर रही है।

डीसीपी मोनिका भारद्वाज के अनुसार, क्राइम ब्रांच में तैनात ASI बलराज को सूचना मिली थी कि कुछ विदेशी महिलाएं देह व्यापार के धंधे में लिप्त हैं। आगे छानबीन पर पता चला कि मोनू नामक एक युवक देह व्यापार के लिए विदेशी लड़कियां सप्लाई करता है। इस जानकारी पर पुलिस टीम ने मोनू से संपर्क किया। उसे तीन से चार विदेशी लड़कियों को लाने के लिए कहा गया। उसने बताया कि प्रत्येक लड़की की एवज में वह 20 से 25 हजार रुपये लेगा। ACP SK गुलिया की देखरेख में इंस्पेक्टर अमलेश्वर राय और SI गुंजन की टीम ने उन्हें रोहिणी सेक्टर 15 के पास लड़कियों के साथ बुलाया।

ASI बलराज नकली ग्राहक बनकर उनके पास गया । कैब में चालक के साथ दो उज्बेकिस्तान की लड़कियां मौजूद थीं। पुलिस टीम ने कैब चालक सहित इन लड़कियों को गिरफ्तार कर लिया। दोनों लड़कियां बसंत कुंज में रहती हैं। उनके साथ मौजूद कैब चालक की पहचान पूरन सिंह के रूप में हुई। उसने पुलिस को बताया कि उसे 2000 प्रत्येक लड़की को ग्राहक के पास छोड़ने की एवज में मिलते थे। वह रमेश के इशारे पर इन लड़कियों को यहां ग्राहक के पास पहुंचाने आया था।

पूछताछ में दोनों लड़कियों ने पुलिस को बताया कि वह टूरिस्ट वीजा पर भारत आई थीं। यहां पर अपने खर्चे पूरे करने के लिए वह देह व्यापार में लिप्त हो गईं। कैब चालक ने पुलिस को बताया कि वह लगभग 5 महीने पहले एजेंट रमेश से मिला था, जो लड़कियों को देह व्यापार के लिए भेजता है। वह उन्हें ग्राहकों के पास ले जाता था। इस काम के लिए उसे प्रत्येक लड़की के एवज में 2000 रुपये मिलते थे। यह लड़कियां उज्बेकिस्तान नागरिक के माध्यम से रमेश से मिली थीं। पुलिस पूरे मामले को लेकर आगे छानबीन कर रही है।