Panama Papers Leak: ऐश्वर्या राय राय बच्चन से छह घंटे तक ईडी की पूछताछ, जानें किस बारे में किए गए सवाल

Panama Papers Leak: ऐश्वर्या राय राय बच्चन से छह घंटे तक ईडी की पूछताछ, जानें किस बारे में किए गए सवाल
07 ..............................
5
width="300px" M24C01D20S21 width="220px" M26C01D20S21 width="220px" width="220px"

पनामा पेपर्स मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अभिनेत्री ऐश्वर्या राय बच्चन से छह घंटे तक पूछताछ की। दिल्ली के जामनगर हाऊस स्थित ईडी दफ्तर में ऐश्वर्या राय बच्चन से ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड स्थित कंपनी के बारे में कई सवाल पूछे गए।

अमीक प्रमोटर्स नाम की इस कंपनी में वह निदेशक रही हैं। वैसे यह कंपनी 2005 में खुलने के बाद 2008 में बंद भी हो गई थी।

ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड स्थित कंपनी को लेकर पूछे गए सवाल

ईडी के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार ऐश्वर्या राय से अमीक प्रमोटर्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के स्वामित्व को लेकर पूछताछ की गई। इसके साथ ही कंपनी के साल 2005 से लेकर साल 2008 तक सालाना टर्नओवर और बैंक अकाउंट से संबंधित जानकारी भी मांगी गई। वैसे ईडी पहले ही इस कंपनी से जुड़े तमाम दस्तावेज आधिकारिक चैनल से मंगा चुका है इन दस्तावेजों से ऐश्वर्या राय का आमना-सामना भी करवाया गया। साथ ही, कंपनी अभिनेत्री के माता-पिता और भाई भी शेयरहोल्डर थे। इसको लेकर भी सवाल किये गए।

ऐश्वर्या राय बच्चन को फिर से पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है

ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मूल रूप से इस कंपनी को ऐश्वर्या राय के पिता ने बनाई थी और उन्होंने ही अपनी पत्नी, बेटे और बेटी को इसका शेयर होल्डर बना दिया था। ऐश्वर्या राय के पिता का निधन हो चुका है। ईडी यह जानना चाहता है कि विदेश में कंपनी खोलने के लिए पैसा कहां से आया और कंपनी से हुई आमदनी का असली लाभार्थी कौन रहा।

बताया जाता है कि ऐश्वर्या राय ने ईडी के सामने कंपनी और उस दौरान अपनी आमदनी के दस्तावेज पेश किया। वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इन दस्तावेजों की पड़ताल के बाद अभिनेत्री को फिर से पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है।

क्या है पनामा पेपर लीक मामला?

ध्यान देने की बात है कि 2016 में पनामा पेपर्स लीक मामले में लगभग 500 भारतीयों के नाम सामने आए थे, जिन्होंने टैक्स हैवन देशों में कंपनी खोली थी। उन पर टैक्स हैवन में स्थित कंपनी के मार्फत टैक्स चोरी का आरोप लगाया गया था। सरकार ने इन आरोपों की जांच के लिए उच्च स्तरीय समिति का गठन किया था, जो एक-एक मामले की पड़ताल कर रही है और उसी के आधार पर ईडी संबंधित लोगों से पूछताछ कर रहा है। इस मामले में नाम सामने आने के बाद अमिताभ बच्चन ने कहा था कि उन्होंने भारतीय नियमों के तहत ही विदेश में पैसा भेजा है। पनामा पेपर्स में जिन कंपनियों का नाम सामने आया था, उनके साथ किसी तरह के संबंध होने से भी उन्होंने इन्कार किया था।

.

.

.

Actress Aishwarya Rai Bachchan was questioned by the Enforcement Directorate (ED) for six hours in the Panama Papers case.  Aishwarya Rai Bachchan was asked several questions about the company based in British Virgin Islands at the ED office at Jamnagar House in Delhi.

 She has been a director in this company named Amik Promoters.  By the way, this company was closed in 2008 after opening in 2005.

 Questions asked about the company based in the British Virgin Islands

 According to highly placed ED sources, Aishwarya Rai was questioned about the ownership of Amik Promoters Pvt Ltd.  Along with this, information related to the annual turnover and bank account of the company from 2005 to 2008 was also sought.  By the way, the ED has already called for all the documents related to this company from the official channel, Aishwarya Rai was also confronted with these documents.  Also, the company actress's parents and brother were also shareholders.  Questions were also raised about this.

 Aishwarya Rai Bachchan may be called for questioning again

 A senior ED official said that the company was originally set up by Aishwarya Rai's father and he made his wife, son and daughter its shareholders.  Aishwarya Rai's father has passed away.  The ED wants to know from where the money came from for setting up the company abroad and who was the real beneficiary of the proceeds from the company.

 Aishwarya Rai is said to have presented documents of the company and her income during that time in front of the ED.  The senior official said that after verifying these documents, the actress may be called again for questioning.

 What is the Panama Papers leak case?

 It is to be noted that in the 2016 Panama Papers leak case, the names of around 500 Indians were revealed who had opened companies in tax haven countries.  He was accused of tax evasion through a company based in a tax haven.  The government had constituted a high-level committee to probe these allegations, which is investigating each case and based on that the ED is questioning the people concerned.  After the name surfaced in this case, Amitabh Bachchan had said that he has sent money abroad only under Indian rules.  He also denied having any links with the companies whose names appeared in the Panama Papers.