युवक से कस्टमर सर्विस पॉइंट खुलवाने के नाम पर ठगे नौ लाख रुपए

युवक से कस्टमर सर्विस पॉइंट खुलवाने के नाम पर ठगे नौ लाख रुपए
width="75px" width="575px" width="575px"
width="575px" width="575px"
width="175px" width="475px" width="375px"

 ये रुपए उसने बैंक से लोन और उधार लेकर जमा कराए थे। सदर थाना पुलिस ने बताया कि दूजोद निवासी दिनेश कुमार ने धोखाधड़ी से नौ लाख रुपए ऐंठने का मुकदमा दर्ज कराया है। दिनेश का आरोप है कि उसने कस्टमर सर्विस पॉइंट खोलने के लिए सीएसपी बैंक मित्रा बैंगलुरु-कर्नाटक के ऑनलाइन पोर्टल पर आवेदन किया था।


इसके बाद उसकी मेल पर कंपनी का मेल आया और करण मल्होत्रा नाम के शख्स ने फोन पर कहा कि आपको एक फॉर्म भेजा है। उसे भरकर भिजवाने पर कंपनी के नंबरों से फिर फोन आया कि आपने जो आवेदन किया है, उसके लिए ग्रामीण क्षेत्र के 25800 रुपए चार्ज के तौर पर अदा करने होंगे। उसने फोनपे एप के जरिए कंपनी के बताए खाते में ये रुपए जमा करवा दिए।


इसके बाद मैसेज आया कि सर्विस पॉइंट के लिए डेढ़ लाख रुपए जमा कराने होंगे। इस तरह उससे एग्रीमेंट, स्टांप, सामान के चार्जेज, एनओसी, कंपनी अधिकारियों के विजिट करने और जीएसटी के नाम पर 859380 रुपए हड़प लिए। इसके अलावा 45 हजार रुपए उसके अन्य खर्चा होने पर नौ लाख चार हजार रुपए की धोखाधड़ी का शिकार हो गया।


उसे न तो कस्टमर सर्विस पॉइंट खुलवा कर दिया और न ही अब रुपए वापस दे रहे हैं। आरोपी उसे कानूनी कार्रवाई करने की धमकी दे रहे हैं। सदर थानाधिकारी सुनील जांगिड़ ने बताया कि मामले में ठगी का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।


ठगी की रकम लौटाने के नाम पर भी हड़पे रुपए
पीडि़त दिनेश ने बताया कि करण मल्होत्रा के अलावा उसके पास कंपनी के अमरचंदलाल ने फोन कर कहा कि उसकी टीम के लोग आपके पास पॉइंट स्थापित करने आएंगे। उनके आवागमन के खर्चे के नाम पर भी उससे 88 हजार रुपए पहले ही वसूल लिए गए। बाद में कहा गया कि कोरोना के कारण कंपनी के कर्मचारी आपके शहर में आने को तैयार नहीं हैं।


इसके बाद जब दिनेश को धोखाधड़ी का अंदेशा हुआ तो उसने अपने रुपए वापस मांगे। बदले में ठगों ने सारे रुपए वापस लौटाने के नाम पर उससे जीएसटी की राशि जमा कराने के लिए 85 हजार रुपए और ठग लिए। पीडि़त ने ठगों द्वारा भिजवाई गई फर्जी आईडी और आधार कार्ड पुलिस को सौंपे हैं।

.

.

.

He deposited this money by taking loan and loan from the bank. Sadar police station said that Dinesh Kumar, a resident of Dujod, has filed a case of fraudulently extorting nine lakh rupees. Dinesh alleged that he had applied on the online portal of CSP Bank Mitra Bangalore-Karnataka to open a customer service point.


After this the company's mail came on his mail and a person named Karan Malhotra said on the phone that a form has been sent to you. After filling it and sending it again a call came from the numbers of the company that for the application you have made, Rs 25800 will have to be paid as a charge for rural areas. He deposited this money in the account of the company through the PhonePe app.


After this a message came that one and a half lakh rupees would have to be deposited for the service point. In this way, Rs 859380 was grabbed from him in the name of agreement, stamp, charges of goods, NOC, visit of company officials and GST. Apart from this, due to his other expenses of 45 thousand rupees, he became a victim of fraud of nine lakh four thousand rupees.


Neither got him opened the customer service point nor is now giving back the money. The accused are threatening him with legal action. Sadar SHO Sunil Jangid said that after registering a case of cheating in the matter, investigation has been started.


Even in the name of returning the cheated amount, the money was grabbed
Victim Dinesh told that apart from Karan Malhotra, Amarchandlal of the company called him and said that his team members will come to you to establish points. 88 thousand rupees were already recovered from him in the name of his travel expenses. Later it was said that the employees of the company are not ready to come to your city due to Corona.


After this, when Dinesh suspected of cheating, he asked for his money back. In return, the thugs took 85 thousand more rupees to deposit the amount of GST from him in the name of returning all the money. The victim handed over the fake ID and Aadhar card sent by the thugs to the police.