अगर आपको रात में अपना फोन का करना पड़े इस्तेमाल, तो इन बातों पर दें ध्यान

क्या आपने कभी अंदाजा लगाया है कि आपके फोन की आदतें आपकी नींद और दिमाग की सेहत को प्रभावित कर रही हैं. लेकिन अगर आपको रात में फोन का इस्तेमाल करना पड़े, तो दो बातों का विशेष ध्यान दें.

अगर आपको रात में अपना फोन का करना पड़े इस्तेमाल, तो इन बातों पर दें ध्यान
width="75px" width="575px" width="575px"
width="575px" width="575px"
width="175px" width="475px" width="375px"

आपका फोन शायद ठीक आपके पास या तकिया के नीचे हर रात रहता है जब आप सोने जाते हैं. आप कॉल, मैसेज और इमेल को देखने के साथ ही जवाब देने में सक्षम होते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं रात में फोन का इस्तेमाल स्वाभाविक रूप से नुकसानदेह है? ये ब्लू रोशनी के कारण हानिकारक है जो हमारे फोन से निकलती है. वास्तव में नीली रोशनी इस हद तक खतरनाक है कि ये आपके लिए आंखों की कई दूसरी समस्याओं का कारण बन सकती है. लेकिन सच्चाई ये है कि हम अपनी जिंदगी की भविष्यवाणी नहीं कर सकते. कभी-कभी रात में हमें फोन के इस्तेमाल करने की जरूरत पड़ सकती है, इसलिए कुछ मजबूत सुरक्षा के पहलू को जानने की जरूरत है जबकि आप रात में फोन का इस्तेमाल कर रहे हों.

रात में फोन का इस्तेमाल से पहले इन बातों पर गौर करें

सन ग्लास या प्रोटेक्टिव ग्लास- इस स्थिति में ये प्रोटेक्टिव ग्लास भी तकनीकी भूमिका अदा करता है. आपको प्रोटेक्टिव ग्लास पहनने की प्रमुख वजह इसलिए है क्योंकि ज्यादातर डिवाइस से नीली रोशनी निकलती है. नीली रोशनी कई समस्याओं को पैदा करने में सक्षम है, जिसमें कुछ आंख पर जोर और मायोपिया है. इसलिए सुनिश्चित करें कि आपके पास नीली रोशनी को फिल्टर करनेवाला ग्लास हो या आपके खुद की और आपकी आंखों की सुरक्षा के लिए सन ग्लास हो.

सुनिश्चित करें कि कमरा या माहौल रोशन हो- इस बारे में अक्सर बहुत कम ध्यान दिया जाता है लेकिन ये वास्तव में बहुत महत्वपूर्ण है. खराब रोशनी वाले कमरे या अंधेरे कमरे में फोन चलाना बहुत खतरनाक है और बढ़ावा नहीं दिया जाना चाहिए. इसका कारण ये है कि डिवाइस से निकलनेवाली नीली रोशनी का प्रभाव सीधे आपकी आंखों पर पड़ता है. इस तरह आपको कई दूसरी समस्याओं के विकसित होने की संभावना बढ़ जाती है. लेकिन अगर आप अपना फोन ठीक से रोशनी वाले कमरे या माहौल में इस्तेमाल करते हैं, डिवाइस से आनेवाली रोशनी का जमाव आपकी आंखों पर सीधे नहीं पड़ेगा. इस तरह दबाव कम होगा और आपकी आंखों को आराम मिलेगा. ये दो उपाय आपकी आंखों पर दबाव को रोकने में मदद करेंगे.

.

.

.

Your phone is probably right by your side or under your pillow every night when you go to sleep. You are able to view and answer calls, messages and emails. But do you know that using the phone at night is inherently harmful? This is harmful because of the blue light that comes out of our phone. In fact, blue light is dangerous to such an extent that it can cause many other eye problems for you. But the truth is that we cannot predict our lives. Sometimes we may need to use the phone at night, so there is a need to know some strong security aspect while you are using the phone at night.


Consider these things before using the phone at night

Sun Glass or Protective Glass - In this situation, this protective glass also plays a technical role. The main reason why you should wear protective glasses is because most devices emit blue light. Blue light is capable of causing many problems, some of which are eye strain and myopia. So make sure you have blue light filtering glasses or sunglasses to protect yourself and your eyes.

Make sure the room or ambiance is illuminated - this is often given little attention but it is really very important. Operating a phone in a poorly lit room or dark room is very dangerous and should not be encouraged. The reason for this is that the blue light emitted from the device directly affects your eyes. In this way you are more likely to develop many other problems. But if you use your phone in a properly lit room or environment, the accumulation of light from the device will not fall directly on your eyes. This way the pressure will be reduced and your eyes will get rest. These two remedies will help prevent pressure on your eyes.