श्रद्धा मर्डर पर बोले गहलोत; ऐसी घटनाएं होती रहती हैं, एक धर्म को बनाया जा रहा निशाना

श्रद्धा हत्याकांड को लेकर जारी आक्रोश के बीच राजस्थान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का एक बयान सामने आया है। उन्होंने सोमवार को कहा कि मैं इस केस पर कुछ नहीं बोलना चाहता, ऐसी घटनाएं देश के अंदर होती रहती हैं

श्रद्धा मर्डर पर बोले गहलोत; ऐसी घटनाएं होती रहती हैं, एक धर्म को बनाया जा रहा निशाना
...
width="120px" width="175px" alt= alt=

श्रद्धा हत्याकांड को लेकर जारी आक्रोश के बीच राजस्थान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का एक बयान सामने आया है। उन्होंने सोमवार को कहा कि मैं इस केस पर कुछ नहीं बोलना चाहता, देश में ऐसी घटनाएं विभिन्न तरह की हैं। महिलाओं पर अत्याचार होते हैं। समाज को राजनीति को अलग करके आगे आना पड़ेगा, तब जाकर ऐसी घटनाएं रुकेगी। वहीं लव जिहाद के मसले पर गहलोत ने कहा कि यह एक दुर्घटना है, इसे एक नाम दे दिया गया है, जुमले कह दिए गए हैं। सदियों से अंतरधार्मिक शादियां हो रही हैं, यह नई बात तो नहीं है। लेकिन आपने (भाजपा) एक कौम को एक धर्म को टारगेट बना दिया है, उसके आधार पर राजनीति हो रही है। 

यह पूछे जाने पर कि क्या आप मानते हैं कि लव जिहाद के सच्चाई बन चुका है। इस सवाल के जवाब में राजस्थान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि यह (श्रद्धा हत्याकांड) एक घटना, दुर्घटना है। इसे नाम दे दिया गया है, जुमले गढ़ दिए गए हैं। आप इसको किसी रूप में ले लीजिए। सदियों से अंतर जातीय और अंतर धार्मिक विवाह होते रहे हैं। इसमें कोई नहीं बात नहीं है। लेकिन, आपने (भाजपा) एक धर्म विशेष को टारगेट बना दिया है। इस आधार पर आपकी राजनीति चल रही है। इसका फायदा आपको मिल रहा है। देश में धर्म और जाति के नाम पर भीड़ जुटाना आसान है। आग लगाना आसान है। इसे बुझाने में वक्त लगाता है।  

समाचार एजेंसी एएनआई के संवाददाता के यह पूछे जाने पर कि भाजपा नेताओं का कहना है कि यदि 2024 में मोदी जी दोबारा चुनकर नहीं आए तो ऐसे आफताब हर घर से निकलेंगे, इस पर आपकी क्या प्रतिक्रिया है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि यह गलत सोच है। ऐसी घटनाएं देश में विभिन्न तरह की हैं। महिलाओं पर अन्याय, अत्याचार, उत्पीड़न होते हैं। ऐसी घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए समाज को आगे आना पड़ेगा। तभी ऐसी घटनाओं पर लगाम लगेगी। 

अशोक गहलोत ने कहा कि बच्चियों के साथ दुष्कर्म और सामूहिक दुष्कर्म की घटनाएं होती हैं। जब तक समाज में बदलाव नहीं आएगा ऐसी घटनाओं को रोकना संभव नहीं होगा। समाज में बदलाव लाने के लिए सभी पार्टियों को एक होना चाहिए। बदलाव की राजनीति अच्छे संस्कार, अच्छी संस्कृति तभी कायम होगी जब आप हिंसा का रास्ता छोड़ेंगे। जब वर्गों, समुदायों और धर्मों के बीच में प्यार मोहब्बत की बातें होंगी तब इस तरह की घटनाओं पर लगाम लगेगी। 

....................................................

Amidst the ongoing outrage over the Shraddha murder case, a statement by Rajasthan Chief Minister Ashok Gehlot has come to the fore. He said on Monday that I do not want to say anything on this matter, such incidents are of different types in the country. There are atrocities on women. The society will have to come forward leaving politics aside, only then such incidents will stop. On the other hand, on the issue of Love Jihad, Gehlot said that it is an accident, it has been given a name, jumlas have been called. Inter-religious marriages have been happening for centuries, this is not a new thing. But you (BJP) have targeted one community and one religion, politics is being done on the basis of that.


When asked if you believe that love has become the reality of jihad. In response to this question, Rajasthan Chief Minister Ashok Gehlot said that this (Shraddha murder case) is an incident, an accident. It has been given a name, phrases have been coined. You take it in any form. Inter-caste and inter-religious marriages have been happening for centuries. There is no point in this. But, you (BJP) have targeted a particular religion. Your politics is being run on this basis. You are getting the benefit of this. It is easy to mobilize a crowd in the name of religion and caste in the country. Lighting a fire is easy. It takes time to extinguish it.


When asked by the correspondent of news agency ANI that BJP leaders say that if Modi ji is not re-elected in 2024, then such storms will emerge from every house, what is your reaction on this? Rajasthan Chief Minister Ashok Gehlot said that this is a wrong thinking. Such incidents are of different types in the country. Women are subjected to injustice, atrocities, harassment. The society will have to come forward to curb such incidents. Only then such incidents will be curbed.

Ashok Gehlot said that there are incidents of rape and gang rape with girls. Unless there is a change in the society, it will not be possible to stop such incidents. All parties should be united to bring change in the society. Politics of change, good manners, good culture will be established only when you leave the path of violence. When there is talk of love between classes, communities and religions, then such incidents will be curbed.