रीट को लेकर डोटासरा का दावा: एक से डेढ महीने में आएगा परिणाम

रीट को लेकर डोटासरा का दावा: एक से डेढ महीने में आएगा परिणाम
07
5
width="150px" 5m12c20d21 width="150px" 13m10c20d21s width="220px"

जयपुर। शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि कोर्ट में कोई मामला नहीं अटका तो अगले एक-डेढ महीने में रीट का परिणाम आ जाएगा। अभी इस संबंध में जो केस चल रहे हैं, उस पर एजी से राय ले लेंगे। कोर्ट का जो भी निर्णय आएगा, उसके अनुसार ही परिणाम जारी किया जाएगा। साथ ही कहा कि भर्ती संबंधी जो प्रकरण कोर्ट में अटके हुए हैं, उन्हें जल्द निकालने के प्रयास किए जाएंगे। डोटासरा बुधवार को शिक्षा संकुल में आरटीई प्रवेश की लॉटरी निकालने के दौरान बोल रहे थे।

प्री-प्राइमरी कक्षाओं में आरटीई के तहत प्रवेश देने के कोर्ट के आदेश के सवाल पर कहा कि लॉटरी निकालने से कोर्ट ने नहीं रोका, इसीलिए लॉटरी निकाली है। कोर्ट का जो भी फैसला आएगा, उसका परीक्षण करके आगे काम करेंगे।

1 लाख 11 हज़ार विद्यार्थी ले पाएंगे निजी विद्यालयों में नि:शुल्क शिक्षा
डोटासरा ने आरटीई के तहत प्रवेश लॉटरी निकाली। इस लॉटरी के बाद 1 लाख 11 हजार से अधिक आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थी निजी स्कूलों में नि:शुल्क शिक्षा ले पाएंगे। निजी विद्यालयों को इनकी फीस का पुनर्भरण राज्य सरकार करेगी।

उन्होंने कहा कि इस साल सरकारी स्कूलों में रेकॉर्ड 10 लाख अधिक नामांकन हुए हैं। अब प्राइवेट और सरकारी स्कूलों में शिक्षा गुणवत्ता स्तर के आधार पर ग्रेडिंग की प्रक्रिया शुरू की जाएगी जिससे अभिभावकों को अपने बच्चों के प्रवेश के लिए उचित विद्यालय चुनने में सहायता मिलेगी।

डोटासरा ने कहा की प्रदेश के शिक्षक संगठनों की गिरदावरी कर उन को सरकारी मान्यता दी जाएगी। ताकि ये संगठन अपना कार्य और अधिक प्रभावी रूप से कर सकें। वहीं स्कूलों को पूरी क्षमता से खोलने के सवाल पर कहा कि एक सक्षम समिति सभी पक्षों का विश्लेषण करेगी, उसके बाद निर्णय लिया जाएगा। इस दौरान अतिरिक मुख्य सचिव पवन कुमार गोयल, समग्र शिक्षा के राज्य परियोजना निदेशक भंवर लाल व माध्यमिक शिक्षा निदेशक काना राम सहित विभाग के सभी आला अधिकारी उपस्थित रहे।

.

.

.

Jaipur. Minister of State for Education Govind Singh Dotasara said that if no case is stuck in the court, then the result of REET will come in the next one-and-a-half months. Will take opinion from the AG on the cases which are going on in this regard right now. Whatever the decision of the court will come, the result will be released accordingly. Also said that the recruitment related matters which are stuck in the court, efforts will be made to remove them soon. Dotasara was speaking during the lottery of RTE admission in the education complex on Wednesday.

On the question of the court's order granting admission under RTE in pre-primary classes, said that the court did not stop the lottery, that is why the lottery has been taken out. Whatever the decision of the court will come, after examining it, we will work further.

1 lakh 11 thousand students will be able to get free education in private schools
Dotasara took out the admission lottery under RTE. After this lottery, more than 1 lakh 11 thousand financially weak students will be able to take free education in private schools. The state government will reimburse their fees to private schools.

He said that this year there have been a record 10 lakh more enrollments in government schools. Now the process of grading will be started in private and government schools on the basis of quality level of education, which will help the parents to choose the right school for admission of their children.

Dotasara said that government recognition will be given to the teachers organizations of the state by girdawari. So that these organizations can do their work more effectively. At the same time, on the question of opening the schools to full capacity, he said that a competent committee will analyze all the aspects, after that a decision will be taken. During this, Additional Chief Secretary Pawan Kumar Goel, State Project Director of Samagra Shiksha Bhanwar Lal and Director of Secondary Education Kana Ram and all top officials of the department were present.