देशज: दूसरे दिन आयोजित हुए विभिन्न कार्यक्रम....

देशज: दूसरे दिन आयोजित हुए विभिन्न कार्यक्रम....
07
5
width="150px" 5m12c20d21 width="150px" 13m10c20d21s width="220px"

देशज: दूसरे दिन आयोजित हुए विभिन्न कार्यक्रम


बीकानेर। संगीत नाटक अकादमी, नई दिल्ली तथा जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत भारत की पारंपरिक लोक एवं जनजातीय अभिव्यक्तियों के उत्सव 'देशज' के दूसरे दिन बुधवार को केंद्रीय संस्कृति राज्य मंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल ने दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम आरंभ किया।


रविंद्र रंगमंच पर आयोजित कार्यक्रम में श्री मेघवाल ने कहा कि देशज के माध्यम से देश के 15 राज्यों की लोक कला एवं संस्कृति को जानने का अवसर स्थानीय लोगों को मिला है। उन्होंने कहा कि बीकानेर की कला, संस्कृति और परंपरा अत्यंत समृद्ध है। यहां के कलाकारों ने देश विदेश में बीकानेर को विशिष्ट पहचान दिलाई है। उन्होंने कहा कि लोक कलाकारों को प्रोत्साहित करने में ऐसे कार्यक्रम महत्वपूर्ण रहेंगे।  उन्होंने कलाकारों का एक डाटाबेस तैयार करने की आवश्यकता जताई। 


जिला कलक्टर नमित मेहता ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रमों से लोक कलाओं एवं संस्कृति को प्रोत्साहन मिलेगा। विभिन्न राज्यों से आए कलाकार इन्हें समझ सकेंगे। 


इस दौरान बीकानेर के अनिल नागौरी एवं दल द्वारा राजस्थान लोक संगीत, सरदारशहर के नितेश मेहरा एवं दल द्वारा राजस्थान के सूफी गायन, श्रीडूंगरगढ़ के सांवरमल कथक दल द्वारा मांड गायन, बीकानेर के शिवरतन एवं बद्री प्रसाद सुथार द्वारा पारंपरिक गायन, बांदीजोरा की परवीना चौधरी एवं दल द्वारा जम्मू कश्मीर के गोजरी संगीत, रोहतक की सुनीता कुमारी एवं दल द्वारा हरियाणा का फाग नृत्य, सागर के सुधीर तिवारी द्वारा मध्य प्रदेश के बधाई नृत्य का प्रदर्शन किया गया। 


इस अवसर पर एचसीएम रीपा के अतिरिक्त निदेशक गोपाल राम बिरदा, संगीत नाटक एकेडमी के उप सचिव पी जोसेफ डी राज, रेलवे पुलिस के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक घनश्याम मीणा, पर्यटन विभाग के उप निदेशक सीताराम कच्छावा, डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य, गुमान सिंह राजपुरोहित, सुधा आचार्य, सुरजाराम राजपुरोहित, पर्यटन विभाग के पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ एवं पवन शर्मा मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन संजय पुरोहित ने किया।