कांग्रेस नेता भ्रष्टाचार में डूबे हैं राहुल गांधी को ED में पक्ष रखने बुलाया विरोध-प्रदर्शन से चोर की दाढ़ी में तिनका आया नजर

कांग्रेस नेता भ्रष्टाचार में डूबे हैं राहुल गांधी को ED में पक्ष रखने बुलाया विरोध-प्रदर्शन से चोर की दाढ़ी में तिनका आया नजर
07 .
5
width="350px" ..... ... width="220px"

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और सांसद राहुल गांधी को ED की ओर से नेशनल हेराल्ड मामले में तलब किए जाने पर सियासत गरमा गई है। राहुल गांधी को पूछताछ के लिए बुलाए जाने पर कांग्रेस के आंदोलन पर BJP ने हमला बोला है। BJP प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया, केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल, सांसद राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा है कि राहुल-सोनिया से पूछताछ में केन्द्र सरकार का कोई रोल नहीं है। बल्कि कांग्रेस नेता भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं। राहुल को पूछताछ के लिए बुलाने पर विरोध प्रदर्शन करने से चोर की दाढ़ी में तिनका नजर आ रहा है।

बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि कांग्रेस किस बात का सत्याग्रह कर रही है। ED ने उन्हें अपना पक्ष रखने के लिए बुलाया। इसमें केंद्र का कोई रोल नहीं है। कांग्रेस के फर्जी सत्याग्रह से गांधी जी भी स्वर्ग में हैरान हो रहे होंगे। यह देश संविधान से चलता है और ED देश के आर्थिक अनुशासन को बनाकर रखने वाली संस्था है। जिसके सामने कांग्रेस नेताओं को अपना पक्ष रखना चाहिए। लेकिन यहां तो चोर की दाढ़ी में तिनका नजर आता है।

जिसने आर्थिक अपराध किया वह बचना नहीं चाहिए

केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा मुझे लगता है कि कांग्रेस नेताओं को अपने गिरेबां में झांकना चाहिए। जहां तक केंद्रीय एजेंसी ED का सब्जेक्ट है। सांच को आंच नहीं होती। ऐसी कहावत हमारे देश में प्रचलित है। अगर किसी ने पाप नहीं किया है तो उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन जिसने भी पाप किया है, गबन किया है, आर्थिक अपराध किया है, वो बचना भी नहीं चाहिए।

एजेंसियों पर अनुचित दबाव डालते हैं,जनता कांग्रेस का चरित्र जान गई

केन्द्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कांग्रेस नेता भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं। जब कोई जांच एजेंसी उन्हें केस में पक्ष रखने के लिए बुलाती हैं, तो वह अपने नेताओं को बुलाकर प्रदर्शन करवाते हैं और एजेंसियों पर अनुचित दबाव डालते हैं। ED राहुल गांधी को अपना पक्ष रखने के लिए बुलाया। इसमें केंद्र सरकार का कोई रोल नहीं है। लेकिन अब जनता भी कांग्रेस का चरित्र जान गई है।

पहले गांधीजी का नाम हड़पा,अब झूठा सत्याग्रह

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और सांसद राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ ने कहा कांग्रेस आखिर किस बात का सत्याग्रह कर रही है। पहले उसने गांधीजी का नाम हड़पा और अब झूठा सत्याग्रह कर रही है। कांग्रेस नेताओं का यह प्रदर्शन देश के संविधान और कानून के खिलाफ है। क्या राहुल और सोनिया गांधी नहीं चाहते कि देश में कानून का राज चले। यदि चाहते हैं तो फिर उन्हें किस बात का डर और भय है।