पंचायत चुनाव नतीजों पर CM Gehlot का बड़ा बयान- सुशासन पर जनता की मुहर, 2023 में फिर बनाएंगे सरकार

सीएम गहलोत ने कहा कि भाजपा के नेता जनकल्याणकारी योजनाओं को जनता तक पहुंचाने की बजाय अनर्गल बयानबाजी करते हैं.

पंचायत चुनाव नतीजों पर CM Gehlot का बड़ा बयान- सुशासन पर जनता की मुहर, 2023 में फिर बनाएंगे सरकार
width="75px" width="575px" width="575px"
width="575px" width="575px"
width="175px" width="475px" width="375px"

राजस्थान  के छह जिलों में हुए पंचायतीराज चुनावों  के नतीजों पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बयान आया है. सीएम ने कहा कि पिछले एक साल से भाजपा के केन्द्रीय मंत्री एवं स्थानीय नेता लगातार मेरे खिलाफ बयानबाजी कर रहे थे. 

भाजपा के मुख्यमंत्री पद के छह दावेदारों ने बिना तर्कों एवं तथ्यों के मेरे जाकर प्रदेश सरकार के खिलाफ बयानबाजी की. मैंने कभी इनका जवाब नहीं दिया लेकिन आज जनता ने मुंहतोड़ जवाब देकर इनका मुंह बन्द कर दिया है. 

सीएम गहलोत ने कहा कि भाजपा के नेता जनकल्याणकारी योजनाओं को जनता तक पहुंचाने की बजाय अनर्गल बयानबाजी करते हैं. भाजपा के नेता समझ नहीं रहे हैं कि उनकी नकारात्मक राजनीति  को जनता ने खारिज कर दिया है. प्रदेश सरकार के कोविड प्रबंधन, जनकल्याणकारी योजनाओं एवं सुशासन का स्वागत किया है.

गहलोत ने कहा कि जनता ने कांग्रेस को आशीर्वाद देकर बड़ा जनादेश दिया है और गांवों की सरकार से बीजेपी का सफाया कर दिया है. इन चुनाव परिणामों में किसानों और ग्रामीण जनता का भाजपा के प्रति गुस्सा स्पष्ट तौर पर दिखाई दिया है. इन चुनावों में भाजपा के केन्द्रीय मंत्रियों तक प्रचार किया लेकिन जनता इनके झूठ और दुष्प्रचार में नहीं आई. प्रदेश सरकार के दिए जा रहे सुशासन पर जनता ने मुहर लगाई है और 2023 में पुनः कांग्रेस की सरकार बनाने का रास्ता भी जनता ने तय कर दिया है. 

हर चुनाव में जनता ने कांग्रेस का साथ दिया
मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार को 32 महीने हो गए हैं लेकिन यहां कोई सत्ता विरोधी लहर नहीं है और यहां हुए हर चुनाव में जनता ने कांग्रेस का साथ दिया है. विधानसभा उपचुनाव, नगरीय निकायों पंचायतीराज चुनावों में जनता ने कांग्रेस को भरपूर आशीर्वाद दिया है. भाजपा को स्पष्ट संदेश दिया है कि वो राजस्थान में सरकार में आने के सपने देखना छोड़ दें. राजस्थान की जनता ने प्रदेश सरकार की सभी जनहितकारी योजनाओं को अपना समर्थन दिया है. भाजपा को अहंकार के कारण मुंह की खानी पड़ी है. देश  प्रदेश की जनता ने मन बना लिया है कि अब आने वाले हर चुनाव में भाजपा को सबक सिखाएगी.

भाजपा कांग्रेस के आधे 25 प्रधान ही बना सकी 
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बताया कि 4 सितंबर को आए नतीजों में 1564 वॉर्ड में से 670 वॉर्ड्स यानी 42.77% में कांग्रेस, 551 वॉर्ड्स 35.17%  में भाजपा एवं 371 वॉर्ड्स में निर्दलीयों ने जीत दर्ज की. अधिकांश निर्दलीय भी कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार ही हैं. 78 पंचायत समितियों में से 50 पंचायत समितियों में कांग्रेस के प्रधान बने हैं. भाजपा कांग्रेस के आधे 25 प्रधान ही बना सकी है. इनमें से भी 10 प्रधान महज 1 वोट के अंतर से ही जीते हैं. इसी प्रकार जिला परिषद के 200 वॉर्ड्स में भी कांग्रेस 99 वॉर्ड्स, भाजपा 90 वॉर्ड्स एवं वॉर्ड्स अन्य ने जीते. 6 में से 4 जिला परिषदों में कांग्रेस को बहुमत मिला. कांग्रेस ने 3 जगहों पर अपने जिला प्रमुख बनाए हैं.

बीजेपी ने लिया हॉर्स ट्रेडिंग का सहारा 
गहलोत ने कहा कि कल तक सरकार पर सत्ता का दुरुपयोग का आरोप लगा रही भाजपा ने जयपुर जिला परिषद में हॉर्स ट्रेडिंग का सहारा लेकर अपना जिला प्रमुख बनाया है. यदि कांग्रेस सरकार पूर्ववर्ती भाजपा सरकार की भांति सत्ता का दुरुपयोग करती तो ऐसा संभव ही नहीं होता. इस हॉर्स ट्रेडिंग में वही लोग शामिल हैं जो पहले भी राजस्थान में सरकार गिराने का कुप्रयास कर चुके हैं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोधपुर की जनता का विशेष आभार व्यक्त किया है. गहलोत ने कहा कि पोस्ट कोविड समस्याओं के कारण वो लम्बे समय से जोधपुर नहीं आ पाए परन्तु जोधपुर की जनता ने अपना पूरा समर्थन कांग्रेस पार्टी को दिया है जिसके कारण जोधपुर में कांग्रेस के जिला प्रमुख एवं 12 पंचायत समितियों में प्रधान बने हैं. गहलोत ने सभी विजयी प्रत्याशियों एवं कार्यकर्ताओं को बधाई दी है.

The statement of Chief Minister Ashok Gehlot has come on the results of Panchayati Raj elections held in six districts of Rajasthan. The CM said that for the last one year, BJP's central ministers and local leaders were continuously making statements against me.

Six contenders for the post of Chief Minister of BJP made statements against the state government without any arguments and facts. I never answered them, but today the public has shut their mouths by giving a befitting reply.

CM Gehlot said that instead of taking public welfare schemes to the public, BJP leaders make unrestrained statements. BJP leaders are not understanding that their negative politics has been rejected by the public. The state government's covid management, public welfare schemes and good governance have been welcomed.

Gehlot said that the people have given a big mandate by blessing the Congress and have wiped out the BJP from the government of the villages. The anger of farmers and rural people towards BJP is clearly visible in these election results. In these elections, BJP's central ministers campaigned but the public did not come under their lies and propaganda. .


People supported Congress in every election.
Chief Minister Gehlot said that it has been 32 months for the Congress government in Rajasthan but there is no anti-incumbency wave and people have supported the Congress in every election held here. In the assembly by-elections, urban bodies, Panchayati Raj elections, the people have given full blessings to the Congress. A clear message has been given to the BJP that they should stop dreaming of coming to the government in Rajasthan. The people of Rajasthan have given their support to all the public welfare schemes of the state government. The BJP has suffered because of arrogance. The people of the country and the state have made up their mind that now they will teach a lesson to the BJP in every coming election.


BJP could make only half 25 heads of Congress
Chief Minister Ashok Gehlot said that out of 1564 wards on September 4, Congress won 670 wards i.e. 42.77%, BJP in 551 wards 35.17% and independents in 371 wards. Most of the independents are also Congress supported candidates. Out of 78 panchayat samitis, Congress has become the head of 50 panchayat samitis. The BJP has been able to make only half the 25 heads of the Congress. Out of these also 10 Pradhans won by a margin of just 1 vote. Similarly, in the 200 wards of the Zilla Parishad, Congress won 99 wards, BJP 90 wards and other wards. Congress got majority in 4 out of 6 Zilla Parishads. Congress has made its district chiefs in 3 places.


BJP resorted to horse trading
Gehlot said that till yesterday the BJP, which was accusing the government of misuse of power, has made its district chief by resorting to horse trading in Jaipur Zilla Parishad. If the Congress government had misused power like the previous BJP government, then this would not have been possible. In this horse trading, the same people are involved who have tried to topple the government in Rajasthan in the past, Chief Minister Ashok Gehlot has expressed special gratitude to the people of Jodhpur. Gehlot said that he could not come to Jodhpur for a long time due to post-covid problems, but the people of Jodhpur have given their full support to the Congress party, due to which he has become the district chief of Congress and 12 panchayat samitis in Jodhpur. Gehlot has congratulated all the winning candidates and workers.