लॉकडाउन-वीकेंड कर्फ्यू को लेकर यह बोले सीएम गहलोत, पढ़े पूरी खबर

लॉकडाउन-वीकेंड कर्फ्यू को लेकर यह बोले सीएम गहलोत, पढ़े पूरी खबर
07 ..............................
5
width="300px" M24C01D20S21 width="220px" M26C01D20S21 width="220px" width="220px"

बीकानेर। राजस्थान में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लॉकडाउन लगाने से साफ इनकार कर दिया है। गहलोत ने फिलहाल वीकेंड कर्फ्यू से भी इनकार किया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लॉकडाउन के सवाल पर कहा- राजस्थान में अभी सरकार लॉकडाउन का कोई विचार नहीं कर रही है। लोग सावधानी बरतें और इसे गंभीरता से लें।
गहलोत ने कहा- हम चाहते हैं कि लोग कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। सोशल डिस्टेंस मेंटेन करें, हाथों को सैनिटाइज करें, मास्क लगाएं और वैक्सीन के दोनों डोज लगवाएं। यह बहतु जरूरी है। अभी जो लोग

अस्पतालों में भर्ती हो रहे हैं, उनमें एक भी सीरियस नहीं है। इसका कारण है कि ज्यादातर लोगों को वैक्सीन लगी हुई है। सबको वैक्सीन लगाना जरूरी है। गहलोत ने कहा- कोरोना की पहली, दूसरी लहर और अब में फर्क है। यह कम घातक है। कई देशों में ओमिक्रॉन आ रहा है, लेकिन वहां पिछली बार की हाहाकार नहीं मचा है। चिंता इस बात की है कि एक्सपर्ट यह कह रहे हैं कि यह जब तेजी से फैलता है, तो इसमें कई म्युटेंट बनकर नया वैरिएंट बन जाता है। ऐसी हालत में यह सबसे ज्यादा खतरनाक हो जाता है। 125 देशों में यह फ़ैल चुका है लेकिन मौतें न के बराबर हैं।


लॉकडाउन से रोजगार और बिजनेस प्रभावित होने की आशंका
सीएम और सरकार के कई मंत्री कह चुके हैं लॉकडाउन से रोजगार और बिजनेस पर बुरा असर पड़ता है। लॉकडाउन की नौबत न आए, इसके लिए जरूरी है कि लोग सावधानी बरतें।


कोरोना की दूसरी लहर में भी पहले लॉकडाउन से इनकार किया थाकोरोना की दूसरी लहर के शुरू होने के समय भी सीएम अशोक गहलोत ने सार्वजनिक रूप से कहा था कि सरकार लॉकडाउन नहीं लगाएगी। सीएम के इस बयान के बाद जब कोरोना के केस बढ़ने लगे तो सरकार ने लॉकडाउन लगा दिया था।


कल से लागू होगी नई गाइडलाइन
राजस्थान में कोरोना की नई पाबंदियों की गाइडलाइन कल 7 जनवरी से लागू हो रही है। इस गाइडलाइन में रात 11 से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू की सख्ती से पालना का प्रावधान है। जयपुर और जोधपुर के शहरी क्षेत्र में 8वीं तक के स्कूल 17 जनवरी तक बंद हैं। नई गाइडलाइन के अनुसार बसों में खड़े होकर यात्रा करने पर पाबंदी है। धार्मिक केंद्रों पर पूजा सामग्री और प्रसादी पर रोक है। 

.

.

.

Bikaner.  Amidst increasing cases of corona in Rajasthan, Chief Minister Ashok Gehlot has categorically refused to impose lockdown.  Gehlot has also denied weekend curfew for the time being.  On the question of lockdown, Chief Minister Ashok Gehlot said – In Rajasthan, the government is not considering lockdown right now.  People take precautions and take it seriously.
 Gehlot said- We want people to follow the Kovid protocol.  Maintain social distance, sanitize hands, apply mask and get both doses of vaccine.  This is very important.  people who are now

 Are being admitted in hospitals, there is not a single serious among them.  This is because most people are vaccinated.  Everyone needs to be vaccinated.  Gehlot said – There is a difference between the first, second wave of corona and now.  It is less lethal.  Omicron is coming to many countries, but there isn't as much outcry as last time.  The concern is that experts are saying that when it spreads rapidly, it becomes a new variant by forming many mutants in it.  In such a situation it becomes most dangerous.  It has spread to 125 countries but deaths are negligible.


 There is a possibility of employment and business being affected by the lockdown
 CM and many ministers of the government have said that the lockdown has a bad effect on employment and business.  It is important that people take precautions so that the lockdown does not happen.


 Even in the second wave of Corona, the first lockdown was denied, even at the start of the second wave of Corona, CM Ashok Gehlot had publicly said that the government would not impose a lockdown.  After this statement of CM, when the cases of Corona started increasing, the government imposed a lockdown.


 The new guideline will be applicable from tomorrow
 The new restrictions of Corona in Rajasthan are being implemented from tomorrow on 7 January.  In this guideline, there is a provision for strict compliance of night curfew from 11 pm to 5 am.  Schools up to class 8 are closed in the urban areas of Jaipur and Jodhpur till January 17.  According to the new guideline, there is a ban on traveling in buses standing.  There is a ban on worship materials and offerings in religious centers.