बीएड के 4 छात्रों ने नाबालिग लड़की का अश्लील वीडियो बना सोशल मीडिया पर डाला वीडियो कॉल कर बनाया शिकार, चारों आरोपी गिरफ्तार....

बीएड के 4 छात्रों ने नाबालिग लड़की का अश्लील वीडियो बना सोशल मीडिया पर डाला वीडियो कॉल कर बनाया शिकार, चारों आरोपी गिरफ्तार....
07
5
width="150px" 5m12c20d21 width="150px" 13m10c20d21s width="220px"

बीएड के 4 छात्रों ने नाबालिग लड़की का अश्लील वीडियो बना सोशल मीडिया पर डाला
वीडियो कॉल कर बनाया शिकार, चारों आरोपी गिरफ्तार

झुंझुनूं। B.Ed. के 4 छात्रों ने 12 वर्षीय लड़की का अश्लील वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया। आरोपी पीड़िता के पड़ोस में ही रहते हैं। चारों ने वीडियो को सार्वजनिक करने की धमकी देकर लड़की को ब्लैकमेल किया। 12 हजार रुपए भी ले लिए। युवक लगातार पैसे की डिमांड करने लगे तो इनकार कर दिया। इससे गुस्साकर युवकों ने वीडियो वायरल कर दिया। यह पूरा मामला झुंझुनू जिले के मंड्रेला थाना इलाके का है।

शांतिभंग में किया गिरफ्तार
मामले की जांच कर रहे सीओ ज्ञान सिंह चौधरी ने बताया कि नाबालिग के चाचा ने 4 युवकों के खिलाफ शनिवार को रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस ने चारों युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। ये मंड्रेला के किसान बीएड कॉलेज में सेकेंड ईयर के छात्र हैं। पुलिस ने झालावाड़ निवासी अमन धामू, राजसमंद निवासी राजकुमार खटीक, झालावाड़ निवासी तरुण शर्मा, बारां निवासी विकास बैरवा के खिलाफ पॉक्सो और SCST एक्ट में जांच शुरू कर दी है। हास्यास्पद तो यह है कि पुलिस ने चारों की गिरफ्तारी शांतिभंग में दिखाई है।

बच्ची के भाई ने देखा वीडियो
गांव के एक युवक ने पीड़िता के छोटे भाई को उसकी बहन का अश्लील वीडियो दिखाया। भाई ने तुरंत परिजनों को बताया। परिजनों ने नाबालिग से पूछा तो उसने रोते हुए सारी कहानी बताई। उसके बाद परिजनों ने शनिवार रात पुलिस में मामला दर्ज करवाया।

बहला-फुसलाकर बनाया वीडियो
मंड्रेला इलाके में छात्रों ने बच्ची को बहला-फुसलाकर वीडियो कॉल के माध्यम से उसका अश्लील वीडियो बना लिया। लड़की को धमकी दी। उससे कहा कि पैसे लाकर दे, वरना वीडियो तेरे घर वालों को दिखा देंगे।लड़की के पिता विदेश में नौकरी करते हैं। वहीं मां पीहर गई हुई थी। पैसों का सारा हिसाब पीड़िता के पास ही था। घरवालों से छुपकर चारों को रुपए देती रही। दो-तीन किस्तों में 12 हजार रुपए दे दिए। पैसे लेने के बाद भी आरोपी लड़की को मानसिक रूप से परेशान कर रुपए की डिमांड करते हुए सोशल मीडिया पर वीडियो डालने की धमकी देते रहे। परेशान होकर उसने पैसे देने से इनकार कर दिया। इसके बाद आरोपियों ने वीडियो वायरल कर दिया।

डिलीट किया वीडियो
मंड्रेला थाने के एसएचओ सत्यनारायण गुर्जर ने बताया कि मामले में डिजिटल साक्ष्यों को जुटाया जा रहा है। सामने आया है कि गिरफ्तारी के डर से आरोपियों ने सोशल साइट से बच्ची का अपलोड किया गया वीडियो डिलीट कर दिया है। पुलिस वेबसाइट से संपर्क कर डिलीट किए गए वीडियो को दोबारा से रिकवर करने का प्रयास कर रही है। पुलिस ने चारों छात्रों के मोबाइल फोन भी जब्त किए हैं। आरोप है कि इससे पहले ही युवकों ने मोबाइल फॉर्मेट कर दिए हैं।