15 मई तक WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी एक्सेप्ट नहीं की तो क्या होगी? जानिए

WhatsApp को अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है. व्हाट्सएप के यूजर्स, इसके राइवल्स और भारत सरकार ने भी नई पॉलिसी की आलोचना की. हालांकि, व्हाट्सएप नई प्राइवेसी पॉलिसी को अब 15 मई से लागू करने जा रहा है. ऐसे में एक सवाल सभी के दिमाग में आ रहा है कि यदि कोई 15 मई तक नई शर्तों को स्वीकार नहीं करता है तो क्या होगा.

व्हाट्सएप FAQ पेज की जानकारी के अनुसार, व्हाट्सएप के जो यूजर नई प्राइवेसी शर्तों को स्वीकार करने से इनकार करते हैं, वे अभी 120 दिनों के लिए और ऐप का इस्तेमाल कर पाएंगे. हालांकि, इस समय के दौरान इसकी कार्यक्षमता सीमित होगी. यूजर थोड़े समय के लिए कॉल और नोटिफिकेशन प्राप्त कर सकेंगे, लेकिन ऐप से मैसेज को पढ़ या भेज नहीं पाएंगे.

120 दिनों में टर्म्स को नहीं स्वीकारने पर व्हाट्सएप अकाउंट को करेगा डिलीट

3

यदि यूजर 15 मई के बाद 120 दिनों में नई प्राइवेसी शर्तों को स्वीकार नहीं करते हैं तो व्हाट्सएप उस यूजर अकाउंट्स को डिलीट कर देगा. इन अकाउंट्स के सभी व्हाट्सएप चैट और ग्रुप भी लूज हो जाएंगे. यदि आप इसके बाद उसी फोन नंबर के साथ व्हाट्सएप का उपयोग करना चाहते हैं, तो आपको एक नया अकाउंट बनाना होगा और स्क्रैच से शुरू करना होगा. लेकिन इसके लिए भी आपको पहले नई प्राइवेसी टर्म्स को एक्सेप्ट करना होगा.

व्हाट्सएप प्राइवेसी से जुड़े कंफ्यूजन को दूर करने का कर रहा प्रयास

व्हाट्सएप ने अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी सामने आने के बाद काफी आलोचना हुई . इसलिए फेसबुक के स्वामित्व वाली यह कंपनी इस बात को समझाने के कई प्रयास कर रही है कि नई प्राइवेसी पॉलिसी से वास्तव में क्या बदलाव होंगे. इसके लिए व्हाट्सएप ने अब तक अपने स्टेटस अपडेट पेज का इस्तेमाल किया और कई बार सार्वजनिक रूप से स्पष्टीकरण दिए और अब ऐप में एक नया बैनर डिस्प्ले करने के लिए भी तैयार है. इन सभी तरीकों के माध्यम से ऐप यूजर्स को आश्वस्त कर रहा है कि उनकी चैट प्राइवेट रहेगी और नई प्राइवेसी टर्म्स को एन्क्रिप्ट किया जाएगा.