Girl in a jacket Girl in a jacket
Girl in a jacket

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच एक नई और हैरान करने वाली रिसर्च सामने आई है। इस रिसर्च में बताया गया है कि कोरोना वायरस कान को भी संक्रमित कर सकता है और उसके पीछे उपस्थित हड्डी को भी। अब तक यह जग जाहिर है कि कोरोनावायरस नाक, गले और फेफड़ों को ही बुरी तरह संक्रमित करता है।

मेडिकल जर्नल JAMA Otolaryngology – Head & Neck Surgery में छपी इस स्टडी में तीन ऐसे मरीजों का जिक्र किया गया है, जिनकी कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हो गई थी। इन तीन में से एक 60 साल का पुरुष और दूसरी 80 साल की महिला थी। इन दोनों मरीजों के कान के पीछे हड्डी में कोरोना संक्रमण पाया गया है। जॉन हापकिंस यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन ने कहा है कि इस रिसर्च के बाद कोरोना वायरस के लक्षण वाले लोगों के कान भी चेक किए जाएं।
80 साल की जो महिला मरीज थी, उसके केवल दाहिने कान के बीच में वायरस पाया गया था, जबकि 60 साल वाले शख्स के बाएं और दाएं मास्टॉयड में उसके बाएं और दाएं मध्य कान में वायरस था।
बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है कि जब कान में कोरोना वायरस के संक्रमण की बात सामने आई है। हालांकि कुछ लोगों में यह पाया गया कि संक्रमण के बाद उनके सुनने की क्षमता खराब हो गई। शोधकर्ताओं की टीम ने सिफारिश की है कि अब लोगों के कान में भी कोरोना वायरस की जांच की जाए।

बुखार से पहले चक्कर आना भी लक्षण
बुखार से पहले चक्कर आना अभी कोरोना का एक लक्षण हो सकता है। अमेरिकन कॉलेज ऑफ इमरजेंसी फिजिशियंस ओपन जर्नल में प्रकाशित शोध के मुताबिक 78 साल के इंसान को इमरजेंसी में भर्ती किया गया। उसे चक्कर आने की शिकायत थी और चल फिर नहीं पा रहा था। लेकिन उसमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिख रहे थे। उसके नाक से नमूने का सैंपल लिया गया तो कोरोना की पुष्टि हुई। शोधकर्ताओं का कहना है कि इंसान में कोरोना के आम लक्षण बुखार से कुछ समय पहले चक्कर आना भी है।

Girl in a jacket

Download Amar Ujala App for Breaking News in Hindi & Live Updates. https://www.amarujala.com/channels/downloads?tm_source=text_share

Girl in a jacket Girl in a jacket Girl in a jacket

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here