सरकार के खिलाफ नारेबाजी: ग्रेड पे 3600 किए जाने की मांग को लेकर पटवारियों की रैली, डीसी ऑफिस पर प्रदर्शन

शहर में रैली निकलते पटवारी।

  • गहलोत सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप, डीसी को प्रतीकात्मक बस्ते जमा कराए

वेतन वृद्धि की मांगों को लेकर पटवारियों ने सोमवार को संभाग स्तरीय रैली का आयोजन किया, जिसमें बड़ी तादाद में पटवारी शामिल हुए। इस दौरान पटवारियों ने बेसिक वेतनमान 3600 रुपए किए जाने की मांग को लेकर संभागीय आयुक्त पीसी बेरवाल को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया तथा प्रतीकात्मक रूप से बस्ते जमा कराए।

साथ ही प्रदर्शन कर गहलोत सरकार के खिलाफ नारे लगाए। रैली कुम्हेर गेट से प्रारंभ हुई, जो मुख्य बाजार होते हुए संभागीय आयुक्त कार्यालय पहुंची। इस दौरान पटवारियों ने गहलोत सरकार के खिलाफ नारे लगाए तथा वादा खिलाफी करने का आरोप लगाया। साथ ही चेतावनी दी है कि यदि पटवारियों की मांग पूरी नहीं की गई तो पूरे प्रदेश में पटवारी आमरण अनशन शुरू करेंगे।

3

जिला पटवार संघ अध्यक्ष ब्रजमोहन शर्मा ने कहा कि सरकारी कर्मचारियों में पटवारियों का वेतन सबसे कम है, जबकि पटवारी पूरे समय दिन रात फील्ड में रहकर काम करते हैं। सरकार ने सभी काम ऑनलाइन कर दिए है, लेकिन फिर भी पटवारियों को मोबाइल तक नहीं दिए गए हैं।

हर समय काम करने वाले पटवारियों की वेतन वृद्धि की मांग काफी समय से चली आ रही है और इस मांग को लेकर वर्ष 2018 में सरकार के साथ समझौता भी हुआ था । मगर उसके बाद भी समझौते का पालन नहीं किया गया।

उन्होंने ग्रेड पे 3600 रुपए करने, पदोन्नति में समय सीमा 7-14-21-28-32 वर्ष किए जाने तथा नो वर्क-नो पे आदेश को वापस लिए जाने की मांग की। इस मौके पर पटवारी नेता रामनिवास, शिवराम, शेरसिंह आदि ने भी विचार रखे। रैली में भरतपुर के अलावा धौलपुर, करौली और सवाई माधोपुर आदि जिलों के पटवार संघ के पदाधिकारियों ने भाग लिया।