मुख्यमंत्री गहलोत का रिकॉर्ड बजट भाषण, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का तोड़ा रिकॉर्ड

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बजट भाषण का रिकॉर्ड बनाया हैं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रिकॉर्ड बनाते हुए देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का रिकॉर्ड तोड़ दिया हैं. साल 2020 में सीतारमण ने 2 घंटे 40 मिनट का बजट भाषण दिया था.

आखिर चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा के प्रयास लाए रंग:
आखिर चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा के प्रयास रंग लाए हैं. सवाई मानसिंह अस्पताल (SMS) में सुरक्षा व्यवस्था चाकचौबंद होगी. मुख्यमंत्री गहलोत की ‘बजट 3.3’ में की बड़ी घोषणा की हैं. अस्पताल के लिए डेडीकेटेड पुलिस थाना खोलने की घोषणा की हैं. चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा ने मुख्यमंत्री को इस बाबत पत्र लिखा था. अस्पताल में मौजूद चौकी को थाने में क्रमोन्नत करने का आग्रह किया था.

ईस्टर्न राजस्थान कैनाल प्रोजेक्ट को हम आगे बढ़ा रहे:
सीएम ने ईस्टर्न राजस्थान कैनाल प्रोजेक्ट को लेकर विपक्ष से कहा कि आपने योजना बनाई थी हम इसे आगे बढ़ा रहे हैं. आप लोग इस बारे में मोदी जी से बात कीजिए. जयपुर और अजमेर में इसे राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा देने की बात की थी. आपके 25 सांसद राजस्थान से जीतकर गए हैं ऐसे में आप लोगों को भी इसे राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा दिलाने की कोशिश करनी चाहिए.

3

18 बांध के जीर्णोद्धार के लिए 70 करोड़ की घोषणा:
वहीं सीएम गहलोत ने 18 बांध के जीर्णोद्धार के लिए 70 करोड़ की घोषणा की है. इसके साथ ही इन्दिरा गांधी लिफ्ट परियोजनाओं के लिए चुरू हनुमानगढ़ की 3 लिफ्ट योजना के लिए 100 करोड़ का प्रावधान किया है. इसके साथ ही 20 लाख घरों को पेयजल कनेक्शन देने की भी घोषणा की है. उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत हर घर जल पहुंचाने के लिए 2000 करोड़ से अधिक की लागत से काम होगा.

पेयजल उपलब्ध कराने के लिए 248 करोड़ किए जाएंगे खर्च:
जल जीवन मिशन के तहत हर घर जल कनेक्शन देने के लिए योजना हैं. जल जीवन मिशन के तहत 2000000 घरों को पेयजल कनेक्शन से जोड़ा जाएगा. जनता को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए आगामी वर्ष में 476 करोड़ रुपए के कार्य कराए जाएंगे. जयपुर के पृथ्वीराज नगर में जलप्रदाय योजना पर ₹41 करोड़ खर्च होंगे. भीलवाड़ा में पेयजल उपलब्ध कराने के लिए 248 करोड़ खर्च किए जाएंगे.

अशोक गहलोत ने बताया रोचक वाकया:
बजट के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रोचक वाकया बताया. सीएम गहलोत ने कहा कि वसुंधरा जी ने एक बार बजट पेश किया था. तब उन्होंने एक बार भी पानी नहीं पीया, लेकिन मैं अब तक सात बार पानी पी चुका हूं. दरअसल मेरा गला बचपन से खराब है इसलिए पानी पीता हूं. इस पर विपक्षी सदस्यों ने की टिप्पणी, तो गहलोत ने जवाब दिया. कहा-मैं पानी पी पी कर आपको कोस नहीं रहा हूं. इससे पहले भी पशु चिकित्सा उपलब्ध कराने के की घोषणा करते वक्त CM गहलोत ने चुटकी ली. प्रतिपक्ष के सदस्यों को कहा-यह तो गाय का मामला है, कम से कम ताली तो बजा दो. क्यों मुंह नीचे करके बैठे हो.

आगामी वर्ष से कृषि बजट होगा अलग से प्रस्तुत:
सीएम गहलोत ने कहा कि आगामी वर्ष से कृषि बजट अलग से प्रस्तुत किया जाएगा. गहलोत ने कृषि बजट प्रस्तुत करने की बड़ी घोषणा की हैं. किसानों को ब्याज मुक्त फसली ऋण उपलब्ध कराए जाएंगे.16000 करोड़ के ब्याज मुक्त फसली ऋण उपलब्ध कराए जाएंगे. इस योजना में 300000 नए किसानों को जोड़ा जाएगा. मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना लागू करने की घोषणा की हैं.

दिवंगत 4 नेताओं के नाम पर कन्या महाविद्यालय की घोषणा की:
सीएम गहलोत ने दिवंगत नेताओं को मेमोरी को चिर स्थायी बनाने के लिए घोषणा की हैं. दिवंगत 4 नेताओं के नाम पर कन्या महाविद्यालय की घोषणा की हैं. राजसमंद में किरण माहेश्वरी राजकीय कन्या महाविद्यालय बनेगा. भींडर गजेंद्र सिंह शक्तावत राजकीय कन्या महाविद्यालय, सुजानगढ़ में भंवरलाल मेघवाल राजकीय कन्या महाविद्यालय, गंगापुर में दिनेश त्रिवेदी राजकीय कन्या महाविद्यालय की घोषणा हैं.

प्रदेश में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों का दायरा बढ़ेगा:
सीएम गहलोत ने बजट भाषण में कहा कि प्रदेश में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों का दायरा बढ़ेगा. सीएम गहलोत की 30 नए पीएचसी खोलने की घोषणा हैं. इसके साथ ही 50 पीएचसी सीएचसी में क्रमोन्नत होगी. सीएम गहलोत ने कहा कि राजस्थान राज्य आयुष अनुसंधान केंद्र की स्थापना होगी. विधायकों ने एक करोड़ विधायक निधि हेल्थ इन्फ्रा पर खर्च करने पर भी सहमति.भीलवाड़ा में नए अस्पताल का ऐलान किया गया. बाड़मेर में 365 बेड वाला अस्पताल बनेगा. भरतपुर में सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, अजमेर जेएलएन अस्पताल को अपग्रेड किया जाएगा.भीलवाड़ा, भरतपुर ट्रॉमा सेंटर विकसित करेंगे. मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 22 लाइफ सपोर्ट सिस्टम.

जिला अस्पतालों में 133 जांचें मुफ्त होंगी:
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बजट भाषण शुरू हो गया है. सीएम गहलोत ने कहा कि प्रदेश में सभी को स्वास्थ्य का अधिकार देने का लक्ष्य है. हेल्थ के इन्फ्रास्ट्रक्चर की मजबूती पर जोर दिया जा रहा है. सभी जिलों में मेडिकल कॉलेज खुलेंगे. जांचों की संख्या पीएचसी में 15 से बढ़ाकर 61, जिला अस्पतालों में 133 जांचें मुफ्त होंगी. महात्मा गांधी अस्पताल व सीकर में नए चिकित्सालय खुलेंगे. पाली अस्पताल, चूरू, बाड़मेर में चिकित्सालय भवन बनेंगे.

कैशलेस इलाज के लिए सुविधा होगी उपलब्ध:
सीएम गहलोत ने कहा कि कैशलेस इलाज के लिए यह सुविधा उपलब्ध होगी. राजस्थान के प्रत्येक जिलों में यानी शेष 25 जिलों में नर्सिंग महाविघालय खोले जाएंगे।. पब्लिक हैल्थ को देखते हुए सभी संभाग मुख्यालयों पर पब्लिक हैल्थ कॉलेज खोले जाएंगे. राज्य के प्रत्येक परिवार को 5 लाख रुपए की चिकित्सा बीमा योजना का लाभ मिलेगा. आगामी वर्ष से हम 3500 करोड़ रुपए की लागत से यूनिवर्सल हैल्थ योजना लागू करेंगे.

हमारे नवाचारों को और आगे बढ़ाएंगे:
मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य- हमारे नवाचारों को और आगे बढ़ाएंगे. सभी को स्वास्थ्य का अधिकार प्रदान करने के लिए राज्य हैल्थ बिल भी लाया जाएगा. देश में अनूठा उदाहरण प्रस्तुत करेंगे. इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड की घोषणा- पांच लाख को ब्याज मुक्त लोन दिया जाएगा. लघु उद्यमियों को 50 करोड़ रुपए की ब्याज सब्सिडी दी जाएगी. पांच लाख रुपए प्रति स्टार्टअप सहायता दी जाएगी.