बाड़मेर के निकत गाँव कपूरडी कब्रिस्तान भुमि को लेकर मुस्लिम तेली समुदाय का कपूरड़ी लिग्नाइट परियोजना के खिलाफ शांतिपूर्ण विरोध

बाड़मेर के निकत गाँव कपूरडी कब्रिस्तान भुमि को लेकर मुस्लिम तेली समुदाय का कपूरड़ी लिग्नाइट परियोजना के खिलाफ शांतिपूर्ण विरोध
width="75px" width="575px" width="575px"
width="575px" width="575px"
width="175px" width="475px" width="375px"

बाड़मेर।सन 2011-12 में साउथ वेस्टर्न माइनिंग लिमिटेड,जालीपा लिग्नाइट परियोजना के तहत कपूरड़ी गाँव मुस्लिम नागौरी तेली समाज दुव्रा 3000 बीघा कब्रिस्तान की जमीन को RSMM व राज्य सरकार की साझेदारी में मुस्लिम तेली समाज ने अवाप्त थी।राजस्थान सरकारी दस्तावेज के अनुसार खसरा न 205 है रकबा 9 बीघा 13 विस्वा में दर्ज है।


कब्रिस्तान की जमीन व्यक्तिगत रूप से समाज के लोगो अपनी निजी भूमि को छोड़ा गया था।कब्रिस्तान की भूमि समाज के लोगो की भूमि के बिल्कुल मध्य स्थित है।इस भूमि में नागौरी तेली समाज के पूर्वज दफनाए हुए हैं।इस भूमि के इर्दगिर्द कांटेदार लोहे की तारबंदी भी मौजूद हैं।तेली समाज के लोगो को निजी भूमि का मुआवजा तो मिल गया था परंतु कब्रिस्तान की भूमि का कम्पनी की तरफ से कोई मुआवजा नही मिला ना ही कब्रिस्तान की भूमि मिली है।

अवाप्ति की शर्तों के अनुसार कांग्रेस सरकार  (सत्तापक्ष) अधिकारियो और RSMM ने कब्रिस्तान की भूमि के बदले बाड़मेर शहर में निकट कब्रिस्तान भूमि देने का आश्वासन दिया गया था।।समाज के अन्य लोगो की सहमति से कपूरड़ी नागौरी तेली समाज के लोग गाँव कपूरड़ी को छोड़कर बाड़मेर शहर में अपना जीवन यापन शुरू कर दिया था।।मुस्लिम समाज की मूलभूत सुविधाओं में शामिल कब्रिस्तान की भूमि का कोई निर्णायक फैसला अभी तक नहीं निकला है।नागौरी तेली समाज कपूरड़ी आज भी अन्य मुस्लिम समुदाय के कब्रिस्तान पर निर्भर है।।

इस पूरे प्रकरण,मामले में बाड़मेर प्रशासन सरकार के जनप्रतिनिधियों को कई बार अवगत करवाया गया हैं।लेकिन प्रशासन और जनप्रतिनिधियों दुव्रा नागौरी तेली समाज बाड़मेर को सिर्फ र्भ्रमित(गुमराह)किया गया हैं।समूचे भारत मे नागौरी तेली समाज एक शांतिप्रिय समाज है।।अक्सर समाज के लोग मजदूर तबके अन्य पिछड़ा वर्ग की श्रेणी में जीवन यापन कर रहे है। नागौरी तेली समाज बाड़मेर व तेलियान अंजुमन संस्था के अध्यक्ष पूर्व राज्यमंत्री(राज) श्री अशरफ अली खिलजी, सदर,हाजी अब्दुल गनी खिलजी,अब्दुल रहमान ख़िलजी,हाजी गुलाम नबी,हाजी अब्दुल सत्तार गौरी,हाजी अय्यबु खान,हाजी अब्दुल कलाम, अलीशेर खान,हाजी शफी राठोड़,हाजी शोकत अली,पीरू खान,सद्दाम हुसैन गौरी,आबिद खान खिलजी,हबीबुल्लाह खान,सैफ खान आदि समाज के गणमान्य(मौजीज)लोगो दुव्रा जिला प्रशासन कलेक्टर महोदय श्री लोक बदु जी,और मौजूदा सरकार को कब्रिस्तान भुमि हेतु ज्ञापन दिया गया।कपूरड़ी कब्रिस्तान भूमि प्रकरण को लेकर व जालीपा लिग्नाइट परियोजना के समक्ष कल दिनांक 14-09-2021 को महावीर पार्क बाड़मेर कचहरी के सामने सुबह 10 बजे एक मीटिंग रखी गई थी।
जिसका मुलप्रारुप है तेली समाज को RSMM दुव्रा कब्रिस्तान की भूमि उपलब्ध करवाई जाए।।