ठगी का मामला: चार बदमाश फर्जी वाणिज्यकर अधिकारी बने व 16 हजार रुपए ठगे

डाबला व जीलो में बोलेरो कार में सवार होकर आए चार बदमाशों ने फर्जी जीएसटी अधिकारी बनकर हार्डवेयर व टाइल्स कारोबारियों से 16 हजार 500 रुपए की ठगी कर ली। वाणिज्यकर विभाग की प्लेट लगाकर पहुंचे फर्जी जीएसटी अधिकारियों ने दुकानों पर जांच के बाद कमियां पकड़ी।

जांच के बहाने केस बनाने की धमकियां दी। बाद में मामला रफा-दफा करने का लालच देकर वसूली शुरू कर दी। जानकारी के मुताबिक फर्जी जीएसटी अधिकारी बनकर आए बदमाशों ने कालूराम, प्रकाशचंद्र, दिनेश व भवानीसिंह की दुकानों पर ठगी की वारदात को अंजाम दिया।

इन दुकानदारों ने 16 हजार 500 रुपए वसूले गए। वाणिज्यकर विभाग की कार्रवाई की खबर से व्यापारियों में हडकंप मच गया। इस दौरान कई लोग जमा हो गए। इसके बाद फर्जी अधिकारी बने चारों लोग गाड़ी में बैठकर निकल गए। सूचना पर डाबला पुलिस चौकी के अधिकारी मौके पर पहुंचे।

3

पाटन एसएचओ नरेन्द्र भडाणा ने बताया कि ठगी की वारदात सीसीटीवी कैमरों में रिकॉर्ड हुई है। बोलेरो पर लगी नबंर प्लेट भी फर्जी है। मामले में जीलो के कारोबारी की रिपार्ट पर एफआईआर दर्ज हुई है। पुलिस फर्जी अधिकारी बनकर वसूली करने वालों की जानकारी जुटा रही है। फिलहाल इनका कोई सुराग नहीं मिला है। व्यापारियों को केस बनाने की धमकी देकर करते हैं वसूली: बदमाश सफेद रंग की बोलेरो गाड़ी के आगे पीछे वाणिज्यकर विभाग लिखवाकर वारदात को अंजाम देते हैं।

डाबला व जीलो में व्यापारियों से वसूली भी इसी तरीके से हुई। फर्जी जीएसटी अधिकारी बनकर चार लोग दुकानों पर पहुंचे। कागजात जांचने के बहाने केस बनाने की धमकी देते। फिर उन्हीं में से एक मामला रफा-दफा कराने के लिए व्यापारी को तैयार कर वसूली करता। उसके बाद सभी गाड़ी लेकर फरार हो जाते। पीड़ित व्यापारियों ने बताया कि चारों बदमाश विभाग के नियमों की पूरी जानकारी रखते हैं।