जोधपुर की सड़कों पर निकलीं 22 सुपर कारें, लैंबोर्गिनी सेे लेकर पोर्श तक, देखने वालों की लगी भीड़

जोधपुर. राजस्थान की सांस्कृतिक राजधानी जोधपुर में बुधवार को 100 करोड़ की 22 सुपर कारें जब सड़क पर गुजरीं तो लोग देखते रह गए. कोरोना महामारी के चलते ठप पड़े पर्यटन उद्योग को वापस पटरी पर लाने के उद्देश्य से शहर के हेरिटेज उम्मेद पैलेस से जब लग्जरी सुपर कारों का काफिला निकला तो इसे देखने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी. इस कार रैली का मकसद पर्यटन उद्योग को फिर से पटरी पर लाने था देश विदेश में इस रैली का प्रचार प्रसार करना था.

दरअसल देश भर के लग्जरी कारों के मालिक ने एक ग्रुप बनाकर देशभर में टूरिज्म सेक्टर में मंदी को देखते हुए विभिन्न शहरों में कार रैली के आयोजन का फैसला लिया. इसी कड़ी में आज जोधपुर शहर के उम्मेद भवन पैलेस से 22 सुपर कारों का काफिला शहर के सड़कों पर निकला.  इस रैली में करीब 100 करोड़ कीमत की 22 सुपर कारें मौजूद थी. इन कारों में लैबोर्गिनी, पोर्श, मैकलारेन, मर्सडीज, बीएमडब्ल्यू, जैसी करोड़ों रुपए की कारें शामिल हुईं.

3
जोधपुर में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए 22 क्लासिक और महंगी कारों की रैली निकाली गई.

आयोजन कर्ताओं में हैदराबाद के अमन ने बताया कि कोरोना संक्रमण काल के दौराम बंद रहने के बाद हमने एक सुपर कार प्रोवाइडर कंपनी बनाई. जो देशभर में पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से कार रैलियां करती है. इन सुपर कारों की कीमत दो करोड रुपए से लेकर 8 करोड रुपए तक है.

यही नहीं इन कारों के माइलेज भी ₹140 प्रति किलोमीटर पड़ता है. हालांकि सामान्य रूप से इनको रखना हर किसी के बूते की बात नहीं है, लेकिन देश भर से अच्छे घरानों के इन कार मालिकों ने पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए देशभर में रैली निकालने का जिम्मा उठाया. आज जोधपुर शहर में सनसिटी के पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से उम्मेद भवन पैलेस से सर्किट हाउस होते हुए शास्त्री सर्कल वह सरदारपुरा होते हुए वापस उम्मेद भवन पैलेस पहुंचे.