जयपुर में मेट्रो प्रोजेक्ट विस्तार की नई डीपीआर तैयार, जानिए कहां-कहां तक दौड़ेगी मेट्रो रेल

जयपुर. राजधानी जयपुर की जनता को जयपुर मेट्रो (Jaipur Metro) के विस्तार का बेसब्री से इंतजार है. अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार ने मेट्रो फेस टू (Metro Phase 2) के लिए डीपीआर (DPR) तैयार कर ली है. क्योंकि पहले बनाए गए मेट्रो फेज 1 और फेज 1 बी का लाभ जनता को तभी मिल सकता है, जब मेट्रो का फेज टू पूरा किया जाएगा. इस पर काम शुरू किए जाने को लेकर अब केवल सरकार की हरी झंडी का इंतजार है.

राजधानी जयपुर की जनता को गहलोत सरकार ने अपने पिछले कार्यकाल में मेट्रो फेज 1 की सौगात दी. मौजूदा समय में फेज 1 बी की सौगात दी, लेकिन इन दोनों प्रोजेक्ट्स की अहम कड़ी जयपुर मेट्रो के फेज 2 को माना गया है. इससे जयपुर शहर के बाहरी इलाकों से शहर के सभी प्रमुख इलाकों और प्रमुख स्थलों को जोड़ा जाएगा. माना जा रहा है इसके बाद ही जयपुर मेट्रो प्रोजेक्ट का जनता को और सही मायने में लाभ मिल सकेगा. मेट्रो फेज 2 प्रोजेक्ट की नई डीपीआर में प्रस्तावित किया गया है कि कहां से कहां मेट्रो रेल को दौड़ना है. जनता भी चाहती है कि जल्द से नए प्रोजेक्ट का काम शुरू हो जाए.

जयपुर में अब यहां भी दौडे़गी मेट्रो रेल

3

फेज 2 प्रोजेक्ट में इंडिया गेट सीतापुरा से अम्बाबाड़ी तक मेट्रो रेल पहुंचेगी. नए रूट पर 21 नए मेट्रो स्टेशन बनना प्रस्तावित है. इस फेज की मेट्रो इंडिया गेट, कुंभा मार्ग, हल्दीघाटी गेट, पिंजरापोल गोशाला, सांगानेर सेतू, बीटू-बाइपास सर्किल, दुर्गापुरा, महावीरनगर, देवनगर, गांधीनगर, टोंक फाटक, रामबाग सर्किल, नारायण सिंह सर्किल, एसएमएस अस्पताल, अशोक मार्ग, गवर्मेंट हॉस्टल से चांदपोल, कलेक्ट्रेट, सुभाषनगर, पानीपेच होते हुए अम्बाबाडी तक जाएगी. इसके साथ ही मेट्रो रेल का फेज 1 सी प्रोजेक्ट भी जोड़ा जाएगा फेज 2 से. इसके बाद बड़ी चौपड़, रामगंज चौपड़ से होते हुए मेट्रो रेल ट्रांसपोर्ट नगर तक जाएगी.

नए डीपीआर पर सुझाव आमंत्रित

मेट्रो एमडी मुकेश सिंघल की मानें तो मेट्रो रेल के मौजूदा प्रोजेक्ट फेज 1 और फेज बी से फेज 2 और फेज 1 सी को जोड़ा जाएगा. इन दोनों नए प्रोजेक्ट्स पर कुल 5470 हजार करोड़ रुपया खर्च होगा. जिसको लेकर डीपीआर को अंतिम रूप दिया गया है. साथ ही सिंघल ने आम जनता से नई डीपीआर पर भी सुझाव आमंत्रित किया है.

जनता को हरी झंडी का इंतजार

बहरहाल जनता को बेसब्री से इस प्रोजेक्ट का इंतजार है, क्योंकि इस प्रोजेक्ट के आने से जयपुर को एक बेहतर पब्लिक ट्रांसपोर्ट मिलेगा. जिसका उपयोग करके जनता की जेब पर पड़ने वाला भार भी कम होगा और सफर भी सुरक्षित रहेगा. अब केवल सभी को इस बात का इंतजार है कि राज्य सरकार कब मेट्रो रेल के नए प्रोजेक्ट के काम को शुरू करने के लिए हरी झंडी दिखाती है.