आयकर विभाग दे रहा करदाताओं को राहत, प्रदेश में अब तक 1767 करोड़ रुपए के रिफंड हुए जारी

0
5

जयपुर: आयकर विभाग का प्लान रिलीफ कोविड-19 के दौरान करदाताओं की आर्थिक मदद कर रहा है. राजस्थान में 17 सौ करोड़ रुपए से अधिक के रिफंड जारी कर हजारों करदाताओं को लाभ दिया गया है. वही, देशभर में 27.55 लाख करदाताओं को 1,01,308 करोड़ रुपये का रिफंड अप्रेल के बाद से जारी किया गया है. केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने सीबीडीटी के जरिए सभी क्षेत्रीय मुख्यालयों को करदाताओं को रिफंड जारी करने में तेजी बरतने के निर्देश दिए थे.

आयकर विभाग ने पहली बार रिकॉर्ड संख्या में रिफंड जारी किए हैं. सामान्य करदाता के साथ कॉपोरेट टैक्सपेयर्स को भी रिफंड जारी करने में तेजी दिखाई है. राजस्थान में आम और कॉरपोरेट करदाताओं को रिकार्ड रिफंड जारी किए हैं. अब तक करीब 17 सौ करोड़ रुपए रिफंड राजस्थान आयकर क्षेत्रीय मुख्यालय जारी कर चुका है. विभाग की पहल कोविड प्रभावित करदाताओं को आर्थिक मजबूती देने की है. देशभर में 27.55 लाख करदाताओं को 1,01,308 करोड़ रुपये का रिफंड जारी किया है. सितंबर महिने के लिए भी विभाग विशेष प्लान पर काम कर रहा है. इसके बाद रिफंड से अधिक वसूली पर फोकस होगा.

कोरोना संक्रमण के बीच राजस्व संग्रहण चुनौती है. इस समय में करदाताओं को परेशानी भी ना हो और राजस्व भी सरकारी खाते में आए इसके प्रयास राजस्थान आयकर विभाग कर रहा है. आने वाले दिनों में आयकर मामलों में ई अससेमेंट प्रभावी कदम साबित होंगे. प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त नीना निगम का कहना है कि आयकर विभाग फेसलेस असेसमेंट, सिटीजन चार्टर को लागू कर चुका है, 25 सितंबर से फेसलेस अपील पर भी काम शुरू होगा. ऑनरिंग द ऑनेस्ट पर आयकर विभाग काम कर रहा है.

नई व्यवस्था में आयकर विभाग के वर्तमान अधिकारियों को ही नियुक्ति किया रहा है. पीसीसीआईटी ने बताया की कोरोना संक्रमण को देखते हुए कई अहम पहल करदाता के हित में की गई है, इनमें रिफंड, छापेमारी , नोटिस सहित प्रक्रिया और समयावधि में राहत शामिल है. अभी राजस्व संग्रहण कम हैं, लेकिन अगली तिमाही से सुधार दिखेगा.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here