आक्रोश रैली के रूप में पेरा टीचरों ने दिखाई ताकत

आक्रोश रैली के रूप में पेरा टीचरों ने दिखाई ताकत
...
width="120px" width="175px" alt= alt=

जयपुर के विद्याधर नगर स्टेडियम में राजस्थान में विभिन्न विभागों में संविदा पर कार्यरत संविदा कार्मिकों के द्वारा हाल ही में राजस्थान सरकार के राजस्थान सिविल सेवा पदों पर संविदा कार्मिक रखे जाने वाले नियम के विरोध में एक महा संग्राम का आगाज करते हुए एक दिवसीय धरना दियाl जिनमें 15000 के लगभग संविदा कार्मिक उपस्थित हुए l

इन संविदा कार्मिकों की मुख्य मांग यह थी कि हाल ही में जारी संविदा कार्मिकों के नियम में विभिन्न विभागों में पिछले 15 से 20 वर्षों से भी अधिक अवधि से कार्यरत संविदा कार्मिकों के अनुभव को 0 मानते हुए 5 वर्ष के लिए पुनः संविदा पर रखा जा रहा है l जिसमें कहीं भी नियमितीकरण का कोई भी खाका नहीं है।

संविदा संयुक्त मोर्चा के संयोजक शमशेर खा भालू के बताए अनुसार यह धरना तो एक सांकेतिक विरोध प्रदर्शन था, यदि सरकार के द्वारा शीघ्र ही संविदा कार्मिकों के नियमित पद बनाते हुए पुरानी संविदा सेवा को मान्य करते हुए संविदा कार्मिकों को नियमित नहीं किया गया तो यह एक जनसैलाब के रूप में आंदोलन तैयार हो जाएगा और आगामी दिनों में श्रीमान राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के दौरान संविदा कार्मिकों के द्वारा प्रत्येक स्थान पर श्रीमान राहुल गांधी को कांग्रेस सरकार के इस झूठे जुमले और थोथी वाहवाही के बारे में अवगत करवाया जाएगा।

बीकानेर से मंसूर अली शहजाद अहमद मोहम्मद जफर मकसूद अहमद जुबेर मुमताज मिर्जा अजरा बानो शहनाज परवीन आमना रशीदा गोरी तस्लीम बानो अंजुम मांगलिया जावेद मांगलिया मोहम्मद इमरान जाकिर मोहम्मद असलम अफजल अहमद इम्तियाज अहमद के साथ बीकानेर का मदरसा परती बीकानेर का मदरसा पैरा टीचर संविदा कर्मियों ने भाग लिया।

........................................

In Jaipur's Vidyadhar Nagar Stadium, the contract workers working on contract in various departments in Rajasthan, started a one-day dharna in protest against the recent rule of the Government of Rajasthan to keep contract workers on Rajasthan civil service posts, in which Around 15000 contract workers appeared.
 
The main demand of these contract workers was that in the recently released contract workers rule, contract workers working in various departments for more than 15 to 20 years, considering their experience as 0, are being put on contract again for 5 years. In which there is no pattern of regularization anywhere.
 
According to Shamsher Kha Bhalu, convenor of Samvida United Morcha, this strike was a symbolic protest, if the contract workers are not regularized by the government soon, recognizing the old contract service by making regular posts of contract workers, then it will be a protest. The movement will be prepared in the form of a mass gathering and in the coming days, during Mr. Rahul Gandhi's Bharat Jodo Yatra, Mr. Rahul Gandhi will be informed about this false statement and false applause of the Congress government at every place by the contract workers.
 
Mansoor Ali Shahzad Ahmed from Bikaner Mohammad Zafar Maqsood Ahmed Zuber Mumtaz Mirza Azra Banu Shahnaz Parveen Amna Rashida Gori Taslim Banu Anjum Manglia Javed Manglia Mohammad Imran Zakir Mohammad Aslam Afzal Ahmed Imtiaz Ahmed along with Imtiaz Ahmed from Bikaner's Madrasa Parati Bikaner's Madrasa para teacher contract workers participated took.