Rajasthan: 26 जनवरी से बच्चे, युवा और बुजुर्ग शहरी ओलंपिक में दिखाएंगे दमखम, 21 तक कराना होगा रजिस्ट्रेशन

राजस्थान में 26 जनवरी से होने वाले शहरी ओलंपिक खेलों की तैयारियां शुरू हो गई हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और खेल मंत्री अशोक चांदना वार्ड और निकाय स्तर पर शहरी खेलों की शुरुआत करेंगे। इसमें सात खेलों में सभी उम्र के लाखों खिलाड़ी हिस्सा लेंगे।

Rajasthan: 26 जनवरी से बच्चे, युवा और बुजुर्ग शहरी ओलंपिक में दिखाएंगे दमखम, 21 तक कराना होगा रजिस्ट्रेशन
...
width="120px" width="175px" alt= alt=

राजस्थान में देश के सबसे बड़ी खेल टूर्नामेंट हो रहे हैं। गहलोत सरकार 30 लाख खिलाड़ियों वाले ग्रामीण ओलंपिक्स के बाद अब शहरी ओलंपिक करवाने जा रही है। जिसका शुभारंभ 26 जनवरी को सीएम गहलोत और खेलमंत्री अशोक चांदना करेंगे। प्रदेश के गांव और शहरों से खेल प्रतिभाओं को ढूंढने और तराशने के साथ-साथ खेल का माहौल तैयार करने के लिए बड़ा प्लेटफॉर्म सरकार देने जा रही है। इसके पीछे सोच और मकसद है कि आने वाले दिनों में राजस्थान स्पोर्ट्स में देश में सिरमौर राज्य बने। खास बात यह है ग्रामीण ओलंपिक की तर्ज पर शहरी ओलंपिक में भी बच्चे, युवा, बुजुर्ग सभी खेलते नज़र आएंगे।

ग्रामीण ओलंपिक में 30 लाख खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था। इसमें करीब 2.25 लाख टीमें बनी। इसमें युवाओं, महिलाओं और बुजुर्गों ने भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। अब सरकार चाहती है शहरों में भी सोसायटी, स्कूल-कॉलेज, यूनिवर्सिटी की टीमों के साथ एकेडमी, स्टेडियम में प्रैक्टिस करने वाले खिलाड़ियों को प्लेटफॉर्म देकर खेलों के लिए मोटिवेट किया जाए। प्रदेश में फिटनेस के साथ ही रोजगार से भी स्पोर्ट्स को जोड़ा जा रहा है। राज्य सरकार ने सरकारी नौकरियों में खिलाड़ियों को दो प्रतिशत आरक्षण दिया है। इंटरनेशनल लेवल स्तर पर मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों को आउट ऑफ टर्न नौकरी देने का प्रोविजन भी लागू किया गया है। सरकार ने अपने डिपार्टमेंट्स में प्रदेश के कई खिलाड़ियों को सीधी नौकरियां भी दी हैं। पिछले बजट में सीएम गहलोत ने स्पोर्ट्स फैसिलिटी बढ़ाने की कई घोषणाएं की थीं। जिसके तहत शहरी और ग्रामीण इलाकों में जगह जगह पब्लिक पार्क में ओपन जिम भी खोले गए। साथ ही खेल मैदान भी बनाए गए।

रजिस्ट्रेशन बढ़ाने के लिए स्पेशल कैंप
सरकार ने सभी जिला कलेक्टर्स को खेल मैदानों का निरीक्षण करने, सुविधाएं करवाने और राजीव गांधी शहरी ओलंपिक खेलों के लिए ज़्यादा से ज़्यादा खिलाड़ियों के रजिस्ट्रेशन करने का टास्क दिया है। राजधानी जयपुर में राजीव गांधी शहरी ओलंपिक के सफल आयोजन के लिए जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित लगातार जयपुर में खेल मैदानों का निरीक्षण कर रहे हैं। इस दौरान अधिकारियों को खेलों में आम जनत की ज्यादा से ज्यादा भागीदारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए जा रहे हैं। कलक्टर ने नगर निगम और नगर परिषद के कमिश्नर के साथ ही नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारियों (EO)को खेलों में रजिस्ट्रेशन बढ़ाने के लिए क्षेत्र में बड़े लेवल पर प्रचार-प्रसार करने और स्कूल लेवल पर स्पेशल कैम्प करने के निर्देश दिए हैं।

जयपुर के शहरी निकायों में बनाए गए 74 स्पोर्ट्स कलस्टर
जयपुर में खेलों के सफल आयोजन के लिए जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित ने कुल 74 स्पोर्ट्स कलस्टर बनाए हैं। जयपुर नगर निगम ग्रेटर में 34, जयपुर नगर निगम हैरिटेज में 26, कोटपूतली नगर परिषद में एक और 13 नगर पालिकाओं में एक-एक कलस्टर बनाए गए हैं। साथ ही संबंधित विभागों में बेहतर कोआर्डिनेशन के लिए जिला प्रशासन ने हर कलस्टर पर स्पोर्ट्स इंचार्ज की भी नियुक्ति की है।


प्रतियोगिता में शामिल किए गए हैं सात खेल
राजीव गांधी शहरी ओलंपिक में कुल सात खेल शामिल किए गए हैं। इनमें एथलेटिक्स, फुटबॉल, टेनिस बॉल क्रिकेट, खो-खो, बास्केटबॉल, वॉलीबॉल, कबड्डी की टीमें खेलेंगी।

किसी भी उम्र के खिलाड़ी 21 जनवरी तक करवा सकते हैं रजिस्ट्रेशन
प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए 21 जनवरी, 2023 तक www.rajolympic.rajasthan.gov.in पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवाया जा सकता है। इन खेलों में किसी भी उम्र, कैटेगरी, शहर के किसी भी क्षेत्र के खिलाड़ी भाग ले सकते हैं। मेल, फीमेल, ट्रांसजेंडर कोई भी हिस्सा ले सकता है।