सुबह उठकर नहीं होता पेट साफ और मोशन करने के लिए लगती है ताकत तो आजमाएं ये नुस्खे

सुबह उठकर नहीं होता पेट साफ और मोशन करने के लिए लगती है ताकत तो आजमाएं ये नुस्खे
...
width="120px" width="175px" alt= alt=

क्या आपने कभी सोचा है कि कब्ज की समस्या इतनी विकराल क्यों हो जाती है? सुबह-सुबह उठकर पेट साफ ना हो तो पूरा दिन परेशानी भरा साबित हो सकता है। अरे-अरे इस बारे में सुबह-सुबह बात शुरू कर दी मैंने पर ये बात सुबह करनी ही जरूरी है। कब्ज की समस्या से लगभग आधी आबादी परेशान है और इसे लेकर न जाने कितने टोटके आजमाए जाते हैं। हमारे देश में आयुर्वेद को बहुत ही महत्व दिया जाता है और अगर बात करें कब्ज की तो इससे जुड़े कई आयुर्वेदिक नुस्खे भी आपको मिल जाएंगे।

कब्ज के साथ-साथ एक और समस्या होती है सख्त मोशन की। जी हां, मोशन करते समय पेट दबाकर ताकत लगाने के बाद अगर आपको रिलीफ मिलता है तो ये भी सही नहीं है। हार्ड स्टूल्स की प्रॉब्लम से कई लोग परेशान होते हैं और ऐसे में कुछ चीज़ें तो करनी ही चाहिए।

आयुर्वेदिक डॉक्टर दीक्षा भावसार ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर इससे जुड़ी एक पोस्ट शेयर की है। डॉक्टर दीक्षा के मुताबिक कब्ज सही मायने में वात दोष के बढ़ने के कारण होता है और इसके कई कारण हो सकते हैं।

आखिर क्यों हो रही है कब्ज की समस्या?

इससे पहले कि हम कब्ज के ट्रीटमेंट के बारे में बात करें हमें पहले इस बारे में समझना चाहिए कि आखिर कब्ज और हार्ड स्टूल्स की समस्या होती क्यों है?

  • अगर हम सही से खाते-पीते नहीं हैं
  • अगर हम बहुत ज्यादा सूखा, ठंडा, बासी, तीखा और तला हुआ खाते हैं
  • अगर हम शरीर की जरूरत के हिसाब से पानी नहीं पीते हैं
  • अगर हमारे फूड में फाइबर की कमी है
  • अगर मेटाबॉलिज्म सही नहीं है
  • आपका सोने-जागने का रूटीन बिगड़ गया है
  • आपका डिनर काफी देर से होता है
  • आपकी लाइफस्टाइल काफी ज्यादा सुस्त हो गई है 

इसके अलावा भी कुछ हेल्थ इशूज के कारण या फिर आपकी लाइफस्टाइल में बहुत बड़े बदलाव के कारण भी ऐसा हो सकता है।  

कब्ज और हार्ड स्टूल्स की समस्या को रोकने के लिए लोग कई बार लैक्सेटिव्स आदि का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन ये बहुत ही गलत आदत साबित हो सकती है। दरअसल, लैक्सेटिव्स आपकी आंतों को बहुत नुकसान पहुंचा सकते हैं और ये अनहेल्दी भी होते हैं। इनकी अगर आदत लग गई तो नॉर्मल तरीके से आप स्टूल्स पास नहीं कर पाएंगे।  

कब्ज और हार्ड स्टूल्स की समस्या को कैसे कम करें? 

अगर आपको भी इस तरह की समस्या हो रही है तो उससे बचने के लिए आप कुछ देसी नुस्खों का इस्तेमाल कर सकते हैं जिनके लिए आप अपने किचन में रखे सामान का उपयोग कर सकते हैं।  

1. गाय के दूध का घी 

गाय का घी यकीनन आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में बहुत मदद कर सकता है और ये एक तरह से नेचुरल लैक्सेटिव भी है। यकीनन आपको ये समझना चाहिए कि ये एक हेल्दी फैट है और ये शरीर में ठीक तरह से एब्जॉर्ब हो सकता है इसलिए इसे वजन बढ़ने की चिंता करने वाले लोग भी इससे जुड़ सकते हैं। अगर बात करें इसमें मौजूद विटामिन्स की तो इसमें विटामिन-ए, विटामिन-डी, विटामिन-ई और विटामिन-के मौजूद होता है।  

क्या करें? 

सोने से पहले 1 चम्मच या सुबह खाली पेट एक चम्मच गाय के दूध का घी खाएं। 

क्या ना करें? 

गाय का शुद्ध घी तो अच्छा है, लेकिन भैंस के दूध का घी मोटापा बढ़ा सकता है। ये सभी को सूट भी नहीं करता है और ऐसे में आप उसे ना लें। भैंस के दूध का घी उन लोगों के लिए अच्छा है जिन्हें वजन बढ़ाना है।  

2. गाय का दूध

इसके बारे में कई रिसर्च आपको मिल जाएंगी और उन सभी में ये बात सामने आ सकती है कि गाय का दूध नेचुरल लैक्सेटिव है। हां, दूध के सभी के लिए अच्छे या बुरे होने को लेकर काफी शोध हुए हैं और हर किसी को दूध सूट भी नहीं करता है, लेकिन अगर एवरेज लैक्सेटिव की बात करें तो ये बच्चों और सीनियर सिटीजन्स के लिए बहुत ही अच्छा साबित हो सकता है। ये प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए भी काफी अच्छा होता है।

क्या करें?

रात को सोते समय गुनगुना दूध पिएं। ये पित्त की समस्या से परेशान लोगों के लिए काफी अच्छा साबित हो सकता है। ये क्रोनिक दस्त को भी कम कर सकता है और आप 1 चम्मच घी के साथ भी इसे ले सकते हैं।

क्या ना करें?

यहां भी ये बात कही जाएगी कि भैंस के दूध को ना लें। यही नहीं अगर आप फुल क्रीम दूध को लेते हैं तो ये भी नुकसानदेह साबित हो सकता है।

3. किशमिश करेगी मदद

काली किशमिश कब्ज और सख्त मोशन की समस्या को काफी हद तक हल कर सकती है क्योंकि इसमें बहुत मात्रा में फाइबर होता है। ये स्टूल के स्मूथ मूवमेंट के लिए अच्छी साबित हो सकती है।

क्या करें?

रात में भिगोकर कुछ किशमिश रख दें और इसे खाली पेट सुबह खाएं।

क्या ना करें?

सूखी किशमिश बिल्कुल न खाएं। सूखा खाना वात दोष को बढ़ाता है और ऐसे में गैस की समस्या बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। ये डाइजेस्ट होने में भी दिक्कत देगी।

4. आंवले का रस

आंवला विटामिन-सी से भरपूर होता है और ये यकीनन बहुत ही अच्छा लैक्सेटिव है जिसे आप कई तरह के हेल्थ इशूज के लिए ले सकते हैं। आंवला आपके कब्ज की समस्या के लिए भी अच्छा है।

क्या करें?

इसे आप आंवला शॉट की तरह सुबह ले सकते हैं या फिर इसे फल या पाउडर के फॉर्म में भी सुबह-सुबह खाली पेट लिया जा सकता है।

क्या ना करें?

जरूरत से ज्यादा इसे ना खाएं। ऐसा करेंगे तो आपके पेट में दिक्कत महसूस होगी, ये एक सीमित मात्रा में ही अच्छा है।

5. मेथी के बीज

मेथी के बीज भी आपके पेट से जुड़ी कई समस्याओं को हल करने के लिए अच्छे साबित हो सकते हैं। मेथी के बीज यकीनन बहुत ही लाभकारी होते हैं जो स्किन और बालों के लिए भी अच्छे साबित हो सकते हैं।

क्या करें?

1 छोटा चम्मच मेथी सीड्स रात में भिगो कर रख दें और इसे सुबह-सुबह पानी के साथ लें या फिर आप इन्हें सुबह भिगोकर रख दें और फिर रात को सोते समय गुनगुने पानी के साथ लें।

क्या ना करें?

इसे भी सूखा ना खाएं। भीगे हुए मेथी सीड्स फायदा करेंगे। कुछ लोगों की आदत होती है कि मेथी सीड्स को बिना भिगोए यूं ही पानी के साथ गटक लेते हैं और ये आदत सही नहीं है। मेथी सीड्स को उन लोगों को नहीं लेना चाहिए जिन्हें पित्त दोष काफी ज्यादा है।

आपको वात, पित्त, कफ आदि में से कौन सा दोष है उस हिसाब से ही आपको अपनी डाइट प्लान करनी चाहिए। अगर समस्या काफी ज्यादा हो रही है तो आपको डॉक्टर से पहले सलाह लेनी चाहिए। बिना डॉक्टरी सलाह के अपने खानपान में कोई भी बदलाव करना अच्छा नहीं होता है।