शिक्षक मांगने पैदल निकले कलासर के 473 बच्चे, लखुसर में पड़ाव

शिक्षक मांगने पैदल निकले कलासर के 473 बच्चे, लखुसर में पड़ाव
शिक्षक मांगने पैदल निकले कलासर के 473 बच्चे, लखुसर में पड़ाव
...
width="120px" width="175px" alt= alt=

मार्च में होने वाली बोर्ड परीक्षा के बावजूद 4 द्वितीय श्रेणी व एक प्रथम श्रेणी शिक्षक की कमी है और दो दिन पूर्व विज्ञान व्याख्याता के एपीओ बनने से आहत राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कलासर के बच्चों ने पैदल चलकर प्रदर्शन किया. शुक्रवार को गांव से बीकानेर। किया हुआ। बच्चों की व्यथा देख उनके माता-पिता और सरपंच भी उनके साथ हो लिए। 50 किलोमीटर के इस सफर में बच्चे और उनके माता-पिता लखुसर में रुके। कड़ाके की ठंड में सभी बच्चे लखुसर पंचायत भवन में रुके और सुबह निकलने का फैसला किया। 

रास्ते में जामसर थानाधिकारी इंद्रकुमार, तहसीलदार राजकुमारी, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी मनीषा अरोड़ा बच्चों को समझाने पहुंचे. बोले, इतनी ठंड में कहां जा रहे हो? मौके पर मौजूद 12वीं कला वर्ग की छात्रा प्रियंका ने कहा, परीक्षा सिर पर है। तबादले के बाद उम्मीद जगी थी कि अब शिक्षक मिल जाएंगे। पढ़ाई पूरी हो जाती लेकिन दो दिन पहले विज्ञान व्याख्याता को एपीओ बना दिया गया।

छात्रों के तेवर देख अधिकारी हैरान रह गए और पीछे हट गए। राम लक्ष्मण गोदारा, आसुरम, मूलचंद, लक्ष्मण सिंह, भंवरलाल गोदारा, चुन्नीलाल गोदारा, राजूराम, रामलाल, जगदीश गोदारा, इंदिरा गोदारा, सुरजा देवी, रायका देवी, भंवरी देवी और सरोज देवी सहित लगभग 200 माता-पिता और ग्रामीण बच्चों सहित पहुंचे। लखुसर। उधर, सरपंच पूनम देवी ने इस संबंध में जिलाधिकारी को पत्र लिखा है। सरपंच एसोसिएशन शनिवार को आंदोलनकारियों के साथ रहेगा।